Jobs haryana news
प्रोटीन के ज्यादा सेवन पड़ सकता हैं भारी, हो सकते हैं ये कई नुकसान, जानिए इसके लक्ष्ण
 
Health Tip

वजन कम करने के लिए हम कई तरह की खाने पीने की चीजों का सेवन अकसर करते हैं। कई बार हमको ये भी नहीं पता होता है कि जो चीजें हम खा पी रहें वो सेहत को कितना देना चाहिए। आमतौर पर देखा जाता है कि वजन कम करने की कोशिश करने वाले प्रोटीन से भरी चीजों का सेवन करते हैं। क्योंकि प्रोटीन इसके लिए जरूरी होता है और हम अपने आहार में इसको बढ़ाते हैं।

कहा जाता है कि प्रोटीन से हमें लंबे समय भूख नहीं लगती क्योंकि इससे हमारा पेट  भर हुआ रहता है,ये मांसपेशियों के निर्माण में मदद करता है और रिकवरी को भी बढ़ता है।यही कारण है कि प्रोटीन का सेवन किया जाता है। इसके अलावा  प्रोटीन आपकी त्वचा की रंगत बढ़ाने, बालों की चमक बढ़ाने, हड्डियों को मजबूत बनाने बनाने के साथ ही वजन को कम करने में बेहद कारगार साबित होता है। हर किसी को प्रतिदिन न्यूनतम मात्रा में प्रोटीन लेना चाहिए।

हालांकि कई लोग सही मात्रा में यह निर्धारित  नहीं कर पाते हैं कि प्रोटीन के लिए उन्हें क्या खाना चाहिए। मैक्रोन्यूट्रिएंट्स के कई स्वास्थ्य लाभ हैं, लेकिन अगर आप इनका सेवन बिना सोचे-समझे कर नहीं करते हैं तो ये स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकते हैं। आइए जानते हैं कि हमारे लिए कितने प्रोटीन की जरूरत होती है।

आपके पास कितना प्रोटीन होना चाहिए?
विशेषज्ञों का कहना है कि जितना आपके शरीर का वजन है, उसके हर एक किलोग्राम के लिए आपके शरीर को एक ग्राम प्रोटीन की जरूरत होती है। यानी कि आप अपने वेट के हिसाब से प्रोटीन को लें। लेकिन अगर आप  इससे अधिक बिना किसी कार्ब्स और वसा के होने से प्रोटीन विषाक्तता हो सकती है, आइए जानते हैं प्रोटीन पॉइजनिंग के लक्षण-

निर्जलीकरण
अगर आप अधिक मात्रा में प्रोटीन खाते हैं तो ये आपके गुर्दे को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है। इससे निर्जलीकरण हो सकता है, यही वजह है कि स्वास्थ्य विशेषज्ञ  बहुत सारी सब्जियों और फलों का सेवन करने का सुझाव देते हैं।

वजन बढ़ना
अत्यधिक मात्रा में प्रोटीन आपकी आंत पर भी असर डाल सकता है, जिससे वजन घटने की जगह अनावश्यक ही आपका वजन बढ़ सकता है।

डिप्रेशन
आपको बता दें कि  जो भी महिलाएं अनुपातहीन मात्रा में प्रोटीन और कम कार्बोहाइड्रेट का सेवन करती हैं, उनमें अवसाद, चिंता, मिजाज  जैसी मानसिक समस्याओं के होने का खतरा बना रहता है।

सांसों की दुर्गंध
अगर आप एक पूर्ण प्रोटीन-आधारित आहार, जहां आप कोई कार्बोहाइड्रेट नहीं खाते हैं, तो शरीर में वसा और कार्ब्स को जलाने में मदद करता है, जिससे सांसों की दुर्गंध हो सकती है। इसलिए आपको प्रोटीन के साथ पर्याप्त मात्रा में कार्ब्स का सेवन भी करना चाहिए।