Jobs Haryana

इन गलतियों के कारण भारत में फिर बैन हुए 17 लाख से अधिक Whats App अकाउंट, कही आप भी तो नही कर रहे ये गलती

 | 
whatsapp

इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp ने अपनी 6th यूजर सेफ्टी मंथली रिपोर्ट जारी की है। यह रिपोर्ट आईटी नियम 2021 के अनुसार पेश की गई है। यह यूजर सेफ्टी रिपोर्ट नवंबर महीने की है। इस रिपोर्ट में यूजर्स की शिकायतों की डिटेल्स दी गई हैं।

इसके साथ ही यह भी बताया गया है कि WhatsApp ने इन पर क्या कार्रवाई की। इस रिपोर्ट के मुताबिक, WhatsApp ने 1,759,000 भारतीय अकाउंट्स पर बैन लगाया है। चलिए जानते हैं कि इस रिपोर्ट के बारे में सभी डिटेल्स।


WhatsApp की 6th यूजर सेफ्टी मंथली रिपोर्ट की डिटेल्स:
WhatsApp ने 1 नवंबर 2021 से लेकर 30 नवंबर 2021 के बीच 1,759,000 भारतीय अकाउंट्स पर बैन लगाया है। अब सवाल यह उठता है कि इन अकाउंट्स पर बैन क्यों लगाया गया है। तो इस रिपोर्ट के मुताबिक, WhatsApp ने इन अकाउंट्स पर बैन लगाने के लिए कंपनी के अब्यूज डिटेक्शन अप्रोच का इस्तेमाल किया है। इसमें 'रिपोर्ट' फीचर के माध्यम से यूजर्स द्वारा दी गई है नकारात्मक प्रतिक्रिया के लिए की गई कार्रवाई भी शामिल है।

क्या है अब्यूज डिटेक्शन अप्रोच:
अब्यूज डिटेक्शन अप्रोच किसी भी अकाउंट के तीन लाइफसाइकल्स पर ऑपरेट करता है। पहला रजिस्ट्रेशन के दौरान, दूसरा मैसेज भेजने के दौरान और तीसरा नेगेटिव फीडबैक के जवाब में जो कंपनी को यूजर रिपोर्ट और ब्लॉक के रूप में प्राप्त होती है।


WhatsApp यूजर्स को अकाउंट्स की रिपोर्ट करने की अनुमति देता है:
WhatsApp यूजर्स को उन अकाउंट्स की रिपोर्ट करने की अनुमति देता है जिसमें यूजर को लगता है कि स्पैम, अपमानजनक जैसे मामले हैं। कंपनी के पास लास्ट 5 सेंड मैसेजेज आते हैं जो किसी रिपोर्टेड यूजर्स या ग्रुप ने किसी दूसरे यूजर को भेजे होते हैं। उन्हें इस बारे में सूचित नहीं किया जाता है।

WhatsApp को रिपोर्ट किए गए ग्रुप या यूजर आईडी, मैसेज कब भेजा गया था और भेजे गए मैसेज का टाइप क्या है (इमेज, वीडियो, टेक्सट आदि) की जानकारी भी प्राप्त होती है। यूजर किसी एक मैसेज को लंबे समय तक प्रेस कर किसी भी मैसेज को रिपोर्ट कर सकता है।

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like