Jobs Haryana

IAS SUCCESS STORY: डॉक्टर की नौकरी छोड़ की यूपीएससी की तैयारी,4 बार असफल होने के बावजूद नहीं मानी हार बन दिखाया IAS,पढिए MITHUN PREMRAJ KI सफलता की कहानी

 | 
IAS

 IAS SUCCESS STORY: संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सर्विस एग्जाम (Civil Service Exam) को सबसे कठीन परीक्षाओं में से एक माना जाता है और कुछ छात्रों को इसे पास करने के लिए कई सालों तक मेहनत करनी पड़ती है. ऐसी ही कुछ कहानी केरल के कोझीकोड जिले के रहने वाले मिथुन प्रेमराज (Mithun Premraj) की है,

 जिन्होंने डॉक्टरी के बाद यूपीएससी एग्जाम देने का फैसला किया, लेकिन उन्हें पांचवें प्रयास में सफलता मिली और आईएएस अफसर (IAS Officer) बनने का सपना पूरा किया.

12वीं के बाद पूरी की मेडिकल की पढ़ाई:
मिथुन प्रेमराज (Mithun Premraj) शुरू से ही पढ़ाई में अच्छे थे और सीबीएसई से 12वीं करने के बाद उन्होंने पुडुचेरी स्थित जवाहर इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (JIPMER) से मेडिकल की पढ़ाई पूरी की. इसके बाद उन्होंने भारतीय सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्थान, नई दिल्ली से सार्वजनिक स्वास्थ्य में डिप्लोमा प्राप्त किया.

डॉक्टर परिवार से ताल्लुक रखते हैं मिथुन:
केरल के कोझीकोड जिले के वताकारा के रहने वाले मिथुन प्रेमराज (Mithun Premraj) डॉक्टर के परिवार से ताल्लुक रखते हैं और उसके पिता डॉ प्रेमराज एक जाने-माने बाल रोग विशेषज्ञ हैं. मिथुन की बहन अश्वथी मुक्कम के केएमसीटी मेडिकल कॉलेज में रेडियोलॉजी विभाग में एक सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर हैं. यहीं वजह है कि मिथुन ने भी 12वीं के बाद मेडिकल फील्ड में जाने का फैसला किया.

डॉक्टरी छोड़ शुरू की यूपीएससी की तैयारी:
न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, मिथुन प्रेमराज (Mithun Premraj) ने बताया, 'मैंने मेडिकल की पढ़ाई साल 2015 में पूरी कर ली थी, लेकिन मेरा सपना एक आईएएस अफसर (IAS Officer) बनने का था. इसके बाद मैंने इसके लिए तैयारी शुरू की और परिवार ने भी मेरा साथ दिया.'

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like