Jobs haryana news
IPS Success Story: राजस्व अधिकारी का पद छोड़ ऐमन जमाल बनीं आईपीएस ऑफिसर, यूं चढ़ीं सफलता की सीढ़ियां
 
ऐमन जमाल बनीं आईपीएस success story of aeman jamal

यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा को क्रैक करने वाले छात्र अपने-आप में कई युवाओं को लिए रोल मॉडल बन जाते हैं। ऐसा ही एक नाम बनकर सामने आईं हैं, ऐमन जमाल। गोरखपुर की रहने वाली ऐमन जमाल प्रतिष्ठित भारतीय पुलिस सेवा (IPS) में चयनित हो चुकी हैं। ऐमन को यूपीएससी एग्जाम 2018 में आईपीएस रैंक मिली है।

यह भी देखें :देश की खूबसूरत IPS अफसर, विदेश से नौकरी छोड़कर आई थी भारत, अब काम की होती है तारीफ

ऐमन जमाल (IPS Ayman Jamal) की इस सफलता पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर में मुलाकात की और बधाई दी। उन्होंने ने कहा कि आम लड़कियों के साथ साथ मुस्लिम लड़कियों को भी ऐमन से प्रेरणा लेनी चाहिए। ऐमन ने यूपीएससी एग्जाम में 499वीं रैंक हासिल की है।

ऐमन के पिता हसन जमाल एक व्यवसायी हैं जबकि उनकी मां अफरोज बानो एक टीचर हैं। गोरखपुर के मोहल्ला खूनीपुर की रहने वाली ऐमन आईपीएस बनने से पहले शाहजहांपुर में उप श्रम कल्याण आयुक्त के पद पर तैनात थीं। जिस दिन उनकी शाहजहांपुर में ज्वाइनिंग थी उसके अगले ही दिन यूपीएससी को रिजल्ट घोषित हो गया।

यह भी देखें : मिस इंडिया रहने के बाद करी यूपीएससी की तैयारी जानिए कैसे बनी आईएएस अधिकारी

ऐमन ने जामिया इस्लामिया विश्वविद्यालय नई दिल्ली और जामिया हमदर्द से अल्प संख्यकों के लिए संचालित कोचिंग में रहकर दो साल तक तैयारी की थी। ऐमन जमाल कहती हैं कि धैर्य और सही मार्गदर्शन से ही सफलता मिलती है।

ऐमन ने प्राथमिक से 12वीं कक्षा तक कार्मल गर्ल्स इंटर कॉलेज में पढ़ाई की। वर्ष 2004 में 63 फीसदी अंकों के साथ हाईस्कूल और वर्ष 2006 में 69 प्रतिशत अंकों के साथ इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की। सेंट एंड्रयूज कॉलेज से जंतु विज्ञान विषय से 2010 में ग्रेजुएशन परीक्षा पास की।

ऐमन जमाल की मानें तो यूपीएससी की परीक्षा करने के लिए शॉर्टकट की कोई जगह नहीं है। तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों को टाइम-टेबल बना कर पढ़ाई करनी चाहिए। वहीं, डिस्क्रीप्टिव सवालों के जवाब के लिए लिखने की प्रैक्टिस करनी चाहिए।