Jobs haryana news
IPS Officer Ankita Sharma: इस खुबसूरत IPS महिला से नक्सली भी कांपते हैं थर-थर, जानें कौन है ये लेडी सिंघम
 
IPS Officer Ankita Sharma

IPS Ankita Sharma Success Story: अंकिता शर्मा, देश के सबसे काबिल पुलिस अफसरों में से हैं. अंकिता शर्मा 2018 आईपीएस बैच की पास आउट हैं और छत्तीसगढ़ की पहली महिला आईपीएस अधिकारी हैं. फिलहाल अंकिता, नक्सल प्रभावित बस्तर की एएसपी हैं. बता दें कि इन दोनों आईपीएस अंकिता शर्मा की सोशल मीडिया में जमकर तारीफ हो रही है. बॉलीवुड एक्ट्रेस रवीना टंडन ने भी अंकिता की तारीफ करते हुए उन्हें असली हीरोइन बताया है. आइए जानते हैं आईपीएस अंकिता शर्मा की सक्सेस स्टोरी.

IPS Ankita Sharma teaches students studying UPSC so that their dreams are  not left incomplete due to poverty. | आईपीएस अंकिता शर्मा यूपीएससी की पढ़ाई  कर रहे स्टूडेंट्स को पढ़ाती हैं ताकि

अंकिता शर्मा का जन्म 25 जून 1990 को छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में हुआ. अंकिता के पिता राकेश शर्मा पेशे से व्यापारी थे जबकि उनकी माता सविता शर्मा गृहिणी थे. अंकिता तीन बहनों में सबसे बड़ी हैं. अंकिता ने अपने तीसरे प्रयास में साल 2018 में 203वीं रैंक हासिल करते हुए यूपीएससी परीक्षा क्रैक की थी. खास बात यह रही कि इन्हें होम कैडर छत्तीसगढ़ मिला था. इसके बाद ही यूपीएसपी एग्जाम की तैयारी कर रहे युवाओं को लिए फ्री में ऑनलाइन कोचिंग की शुरूआत कर अंकिता शर्मा चर्चा में आईं.

घुड़सवारी और बैडमिंटन का है शौक
आईपीएस अंकिता शर्मा को घुड़सवारी और बैडमिंटन का शौक हैं. अंकिता के नाम छत्तीसगढ़ के इतिहास में गणतंत्र दिवस परेड की कमान संभालने वाली पहली महिला पुलिस अधकारी बनने का रिकॉर्ड भी दर्ज है. बता दें कि आईपीएस अंकिता शर्मा की छत्तीसगढ़ के प्रशासनिक महकमे में अपनी एक अलग पहचान है. उन्हे दबंग और दमदार पुलिस ऑफिसर माना जाता है. बस्तर जैसे नक्सल प्रभावित क्षेत्र की कमान संभालने के बाद आईपीएस अंकिता शर्मा ने कई नक्सलियों को पकड़ने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने में सफलता मिली है. उनके नेतृत्व में यह अभियान लगातार जारी है.

बड़ी होकर किरण बेदी बनूंगी'...इस हौसले के साथ बनी IPS, स्वैग ऐसा कि देखते  रह जाते हैं लोग | ips ankita sharma want to become kiran bedi got 203 rank  in upsc

अंकिता रविवार को बन जाती हैं टीचर

आईपीएस अंकिता शर्मा (Ankita Sharma) अक्सर उन युवाओं की मदद करती है, जिनमें कुछ कर गुजरने की ललक है. दरअसल, अंकिता पूरे सप्ताह ड्यूटी में व्यस्त रहती हैं और रविवार को एक टीचर की भूमिका में आ जाती हैं. इस दौरान वह अपने ऑफिस में करीब 20-25 युवाओं को पढ़ाती हैं, जो लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. इनमें ज्यादातर ऐसे युवा शामिल हैं, जो महंगे कोचिंग की फीस वहन नहीं कर सकते.

दुर्ग के छोटे गांव से हैं अंकिता

आईपीएस अंकिता शर्मा (Ankita Sharma) छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बस्तर (Bastar) में असिस्टेंट सुपरिटेंडेंट (ASP) पद पर पोस्टेड हैं और नक्सल ऑपरेशन की कमान संभाल रही हैं. अंकिता छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के एक छोटे से गांव की रहने वाली हैं और उन्होंने अपने शुरुआती पढ़ाई सरकारी स्कूल से की है.

Meet IPS officer Ankita Sharma who commands operation in Naxal stronghold  Bastar

बचपन से बनना चाहती थीं आईपीएस

DNA की रिपोर्ट के अनुसार, अंकिता शर्मा (Ankita Sharma) ने एक इंटरव्यू में बताया था कि वह बचपन से ही आईपीएस बनना चाहती थीं, लेकिन इस विषय में उन्हें कोई जानकारी नहीं थी और मार्गदर्शन देने के लिए कोई नहीं था. इस कारण उन्हें दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा.

2018 में मिली सफलता

अंकिता शर्मा (Ankita Sharma) को साल 2018 में तीसरे अटैम्प्ट में सफलता मिली. उन्होंने यूपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा (UPSC Civil Service Exam) में 203वीं रैंक हासिल की और आईपीएस बनने का सपना पूरा किया. अंकिता होम कैडर पाने वाली छत्तीसगढ़ की पहली महिला आईपीएस बनी हैं.

Achieved by raising problems now IPS Ankita Sharma became helpful to others  Know More Jagran Special

एमबीए करने के बाद की यूपीएससी की तैयारी

अंकिता शर्मा (Ankita Sharma) ने अपनी शुरुआती पढ़ाई दुर्ग जिले से किया. ग्रेजुएशन करने के बाद अंकिता ने एमबीए किया और फिर यूपीएससी एग्जाम की तैयारी के लिए दिल्ली चली गईं, लेकिन उन्होंने सिर्फ छह महीने तक ही वहां पढ़ाई की और फिर घर वापस आकर सेल्फ स्टडी की.

तैयारी के दौरान हो गई थी शादी

अंकिता शर्मा (Ankita Sharma) ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि यूपीएससी की तैयारी के दौरान ही उनकी शादी हो गई थी. उनके पति विवेकानंद शुक्ला आर्मी में मेजर है और वर्तमान में मुंबई में तैनात हैं. पति के साथ रहते हुए उन्हें जम्मू-कश्मीर, हैदराबाद, झांसी जैसे शहरों में रहना पड़ा और उनको यूपीएससी की परीक्षा में दो बार असफलता मिली, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और तीसरी बार में परीक्षा पास कीं.

आईपीएस अंकिता संवार रहीं युवाओं का भविष्य, 100 छात्रों को दे रहीं यूपीएससी  की फ्री कोचिंग

अपराध पर लगाया नियंत्रण

अंकिता शर्मा (Ankita Sharma) ने रायपुर में नगर पुलिस अधीक्षक (सीएसपी) पद रहते हुए शानदार काम किया था और क्राइम को कंट्रोल करने में सफल रहीं. अंकिता कहती हैं कि जिस तरह से वे तमाम कठिनाइयों के बाद आइपीएस की परीक्षा में पास हो कर चयनित हुई हैं, वो परेशानी कोई और न उठाए.

महिला नेता से विवाद के बाद चर्चा

अंकिता शर्मा (Ankita Sharma) कहती हैं कि महिलाएं किसी से कम नहीं हैं और उन्होंने लोगों की सेवा करने के लिए वर्दी पहनी है. इस साल फरवरी में अंकिता नियम कानून को लेकर एक महिला नेता से भिड़ गई थीं. यह मामला सोशल मीडिया पर काफी चर्चा हुई थी और लोगों ने अंकिता की जमकर तारीफ की थी.