Jobs haryana news
IAS ARTIKA SUKLA Success Story: लाखों की नौकरी छोड़ बिना कोचिंग की UPSC की तैयारी कर बन गई IAS, पढिए ARTIKA SUKLA की सफलता की कहानी
 
IAS

IAS SUCCESS STORY: भारत में यूपीएससी परीक्षा का क्रेज युवाओं में काफी ज्यादा है। युवा अक्सर यह सपने देखते हैं कि वह यूपीएससी परीक्षा क्रैक करके आईएएस, आईपीएस अफसर बन जाएंगे। यूपीएससी के सपने देखना तो आसान है, लेकिन इस परीक्षा को पास करना उतना ही मुश्किल है।हालांकि इस परीक्षा को पास करना बेहद मुश्किल है लेकिन एक बार ठान लिया जाए तो नामुमकिन भी नहीं है। इसी का उदाहरण पेश करती है अर्तिका शुक्ला।

डॉक्टर बनने का सपना था, बन गई आईएएस अफसर

अर्तिका ने कभी भी आईएएस अधिकारी बनने का सपना नहीं देखा था। वह एमबीबीएस डॉक्टर बनना चाहती थी। लेकिन कहते हैं ना कि समय के साथ पसंद भी बदलने लगती है। अर्तिका के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। उन्होंने एमबीबीएस और एमडी की डिग्री तो हासिल कर ली। लेकिन उन्होंने उसे बीच में ही छोड़कर यूपीएससी की परीक्षा पास करने के लिए मेहनत करनी शुरू कर दी। तो चलिए जानते हैं किस रणनीति से और कितनी मेहनत से शुक्ला ने यूपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल कर ली।

ias

शुक्ला बचपन से ही पढ़ाई में काफी तेज थी। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा वाराणसी के सेंट जॉन स्कूल से की। परीक्षा पास करने के बाद उन्होंने मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की डिग्री हासिल की। एमबीबीएस करने के बाद उन्होंने एमडी में एडमिशन लिया। इस के दौरान उनके बड़े भाई गौरव ने उन्हें UPSC परीक्षा देने का सुझाव दिया। शुक्ला ने इस बात को समझा और यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी।

अर्तिका यूपीएससी की तैयारी करने वाले हर छात्र को पहले प्रयास में परीक्षा पास कैसे करनी है इसके लगातार सुझाव देते रहती है। उनका ऐसा मानना है कि कड़ी मेहनत और सही रणनीति ही आपको यूपीएससी के प्री और मेंस की परीक्षा को पास करने में सहायक होगी। तैयारी को मजबूत बनाने के लिए आपको एनसीईआरटी की कक्षा 1 से लेकर 12वीं तक की किताबों को अच्छी तरह से पढ़ना होगा। इसके साथ ही आंसर राइटिंग प्रैक्टिस और मॉक टेस्ट पेपर सॉल्व करते रहने से पेपर पर अच्छी पकड़ बनी रहेगी। करंट अफेयर्स की जानकारी के लिए रोजाना अखबार अच्छी तरह से पढ़ना जरूरी है।

डॉक्टर अर्तिका शुक्ला

अर्तिका शुक्ला यूपीएससी परीक्षा के अपने पहले ही प्रयास में टॉपर बन गई। साल 2015 में उन्होंने चौथी रैंक के साथ यूपीएससी की परीक्षा पास की और आईएएस अधिकारी बन गई। एक इंटरव्यू आया था जिसमें उन्होंने बताया था कि अगर एकाग्र होकर पूरी शिद्दत से मेहनत की जाए तो यूपीएससी की तैयारी के लिए 1 साल काफी होता है। ऐसे में उनका यह भी कहना है इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कैसे स्टूडेंट रहे हैं या आप का बैकग्राउंड कैसा रहा है। जब आप UPSC की तैयारी करते हैं तो आप ज़ीरो से ही शुरुआत करते हैं। इसके लिए कुछ चाहिए तो वह है धैर्य और मेहनत।