Jobs haryana news
IAS SUCCESS STORY: Government Job छोड़ ओर चार बार असफल होने के बावजूद नहीं मानी हार बनकर दिखाया IAS,पढिए SANJITA MOHAPATRA की सफलता की कहानी
 
IAS

Success Story Of IAS Topper Sanjita Mohapatra: यूपीएससी में कई बार लोगों को असफलता मिलती है, लेकिन जो लोग इस दौरान धैर्य रखकर लगातार तैयारी करते रहते हैं, वे एक ना एक दिन जरूर सफल होते हैं. आज आपको यूपीएससी परीक्षा 2019 में ऑल इंडिया रैंक 10 हासिल कर आईएएस अफसर बनने वाली संजीता मोहापात्रा की कहानी बताएंगे|

 जिन्होंने यूपीएससी का सपना पूरा करने के लिए सरकारी नौकरी तक छोड़ दी. इतना ही नहीं शादी होने के बाद भी उन्होंने यूपीएससी की तैयारी जारी रखी और पांचवें प्रयास में आईएएस अफसर बनने का सपना पूरा कर लिया. 

इंजीनियरिंग के बाद नौकरी मिली:
मूल रूप से ओड़िशा के राउकरेला की रहने वाली संजीता पढ़ाई में काफी होशियार थीं. उनकी इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई होम टाउन में हुई. 12वीं के बाद उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में दाखिला ले लिया. इंजीनियरिंग की डिग्री पूरी होने के बाद उन्हें एक अच्छी सरकारी नौकरी मिल गई. हालांकि उनका सपना आईएएस बनने का था. ऐसे में उन्होंने नौकरी के साथ ही यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी. 

शादी के बाद भी तैयारी जारी रखी: 
संजीता ने अपनी पढ़ाई खत्म होने के तुरंत बाद यूपीएससी की परीक्षा देना शुरू कर दिया. शुरुआती तीन प्रयासों में वे प्री-परीक्षा तक पास नहीं कर पाईं. इसके बाद उन्होंने कुछ समय तक सरकारी नौकरी की और तैयारी भी करती रहीं. हालांकि नौकरी के साथ उनकी तैयारी अच्छी तरह नहीं हो पा रही थी, ऐसे में उन्होंने नौकरी छोड़ने का फैसला किया. यह फैसला उनके लिए काफी कठिन था. इसी दौरान उनकी शादी भी हो गई. उन्होंने इसके बाद भी तैयारी जारी रखी और चौथा प्रयास किया लेकिन फिर सफलता नहीं मिली. आखिरकार पांचवें प्रयास में उनका सपना पूरा हो गया.

अन्य कैंडिडेट्स को संजीता की सलाह संगीता का कहना है कि यूपीएससी की तैयारी के दौरान धैर्य रखना चाहिए और खुद को मोटिवेट रखकर लगातार मेहनत करते रहना चाहिए. वे कहती हैं कि यहां कई बार असफलता मिलती है, लेकिन आपको निराश होने की जरूरत नहीं है. अगर आप हर बार बेहतर तरीके से परीक्षा में शामिल होंगे, तो आपको सफलता जरूर मिलेगी. उनका मानना है कि सेल्फ स्टडी की बदौलत ही आपकी यूपीएससी की परीक्षा को पास कर सकते हैं.