कभी गरीबी में बेचे थे अखबार, आज लग्जरी कारों में जातें है बाल काटने, जानिए इस करोड़पति नाई की कहानी

Jobs Haryana, Success Story of Billionaire Barber Ramesh Babu

आज हम आपको बताने जा जा रहे हैं कर्नाटक के बेंगलेरू शहर के निवासी रमेश बाबू (Billionaire Barber Ramesh Babu) की।

जो रोजाना उठकर अपने काम पर जाने के लिए टिप-टॉप तैयार हुआ करते हैं, वे कोट पैंट पहनते हैं, खुशबूदार परफ्यूम लगाकर अपनी रोल्स रोयस या मर्सडीज कार में अपने काम के लिए जाते हैं तथा अपनी हेयर सैलून में लोगों के बाल काटते हैं।

आपको भी शायद सुनकर थोड़ा अजीब लगा होगा पर, मस्त मौला ज़िन्दगी जीने वाले रमेश बाबू का यही पेशा है।

 

आपको बता दें कि रमेश बाबू को कोई आम इंसान नहीं समझने की गलती मत कीजिएगा, क्योंकि वे भारत के करोड़पति नाई हैं। आपको बता दें कि इनके पास वर्तमान समय में करोड़ों रुपयों की प्रॉपर्टी है और साथ ही 350 से भी ज़्यादा कारें हैं। इन कारों में 120 लग्जरी कारें और करोड़ों रुपए की रोल्स रॉयस भी शामिल है।

परंतु आश्चर्य की बात तो यह है कि इतना पैसा और संपत्ति होने के बावजूद भी उन्होंने अपने हेयर सलून में बाल काटने के लिए किसी को अप्वॉइंट नहीं किया बल्कि ख़ुद ही सब की हेयर कटिंग किया करते हैं।

कभी करते थे अख़बार बांटने का काम

रमेश बाबू कि यह करोड़ों की प्रॉपर्टी उन्हें उनके पूर्वजों से या परिवार जनों से नहीं मिली है बल्कि उन्होंने अपनी मेहनत से कमाई है। कभी ऐसा भी वक़्त था जब वह दाने-दाने को मोहताज थे। जब वे छोटे थे तो उन्होंने अत्यधिक ग़रीबी झेली।

ये भी पढ़ें- छोटा कद देख लोग बनाते थे मजाक, आज ओहदे को देख लोग कर रहे हैं सलाम

रमेश बाबू ने पहले ग़रीबी से जूझते हुए जब कुछ काम करने का सोचा तो उन्होंने लोगों के घरों में अख़बार बांटने का काम शुरू किया। उनके पिताजी बंगलुरु के चेन्नास्वामी स्टेडियम के पास में अपनी एक नाई की दुकान चलाया करते थे।

फिर जब उनके पिता जी नहीं रहे, तो उनकी माँ ने घर की जिम्मेदारी संभालने के लिए लोगों के घर में खाना बनाने का काम शुरू कर दिया, ताकि वे अपने बच्चों को पाल सकें। इतना ही नहीं उन्होंने उनके स्वर्गवासी पिता की दुकान को केवल ₹5 महीने के किराए पर ही दे दिया ताकि कुछ पैसे आएँ। फिर जब रमेश बाबू युवा हुए तो उन्होंने टूर एंड ट्रेवल्स का व्यवसाय किया जिससे उन्होंने कुछ पैसे कमाए तथा उनके पिताजी की दुकान जो किराए पर दी थी उसे लेकर फिर उस दुकान का आधुनिक तरीके से रिनोवेशन करवाया।

दुकान को बनाया मॉडल सलून और कारें किराए पर दी

उन्होंने अपने पिताजी की पुरानी नाई की दुकान को मॉडर्न सलून बना दिया जिससे आकर्षित होकर कस्टमर उनकी दुकान पर आने लगे और उन्होंने इस दुकान से बहुत कमाई की। फिर उन्होंने ऐसे और भी सलून खोले। रमेश बाबू इस दुकान के साथ ही अपना टूर एंड ट्रैवल्स का बिजनेस भी किया करते थे। उन्होंने बहुत-सी कारें खरीदी और उसे किराए पर देना शुरू कर दिया। कार किराए पर देने से जो भी पैसे आते थे उससे वे और भी ज़्यादा कारें खरीद कर उससे बिजनेस किया करते थे।

इस प्रकार से कुछ समय बाद उन्होंने बहुत-सी लग्जरी कारें भी खरीद ली थीं, लग्जरी कारों का किराया बहुत ज़्यादा होता है तो इससे उन्हें बहुत आमदनी हुई। अब उनके पास लगभग 450 कारें हैं, जिनमें 9 मर्सडीज, 6 बीएमडब्ल्यू, एक जगुआर और तीन ऑडी कारें भी शामिल हैं। उनके पास करोड़ों की रॉल्स रॉयस कार भी है, जिससे उन्हें सिर्फ़ 1 दिन का किराया ही 50, 000 से भी ज़्यादा मिल जाता है।

सिर्फ 150 रूपये में करते हैं हेयर कटिंग

रमेश बाबू (Billionaire Barber Ramesh Babu) ने करोड़ों रुपए कमा लिए है लेकिन फिर भी वे अपने पुश्तैनी काम की इज़्ज़त करते हैं। वे हर रोज़ 2 घंटे अपने सलून में बैठते हैं और लोगों के बाल काटते हैं। कई लोग तो उनके बारे में यह भी सोचते हैं कि यह अमीर नाई तो शायद बाल काटने के बहुत ज़्यादा पैसे लेता होगा, लेकिन असल में ऐसा बिल्कुल नहीं है। आज भी रमेश बाबू बाल काटने के लिए केवल 150 रूपये ही चार्ज करते हैं।

Find Jobs? Join Our Whatsapp Group