Kaithal: कैथल में एक दिन के लिए प्रिंसिपल बनी 11वीं की छात्रा, प्रिंसिपल बनते ही लिये ये बड़े फैसले

Jobs Haryana, Kaithal 

हरियाणा के कैथल (Kaithal) जिले के जाखौली अड्डा स्थित राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर 11वीं कक्षा के आर्ट संकाय की छात्रा उपासना को एक दिन के लिए स्कूल का प्रिंसिपल बनाया गया।

एक दिन के लिए प्रिंसिपल बनी छात्रा ने स्कूल में विभिन्न कक्षाओं का निरीक्षण कर छात्राओं से बातचीत की। इस दौरान छात्रा ने छात्राओं से उनके समक्ष आने वाली समस्यों को लेकर जानकारी प्राप्त की।

Kaithal

उपासना ने बताया कि वह एक छात्रा होने के नाते उसे छात्राओं के समक्ष आने वाली विभिन्न समस्याओं के बारे में भली भांति जानकारी है। इन्हीं समस्याओं को लेकर स्कूल के स्टाफ सदस्यों को निर्देश दिए हैं।

एक दिन के लिए प्रिंसिपल बनी छात्रा उपासना ने सुबह के समय जब प्रार्थना सभा के साथ स्कूल की शुरूआत हुई तो उसने अपने भाषण से प्रिसिंपल का दायित्व संभाला। इसके बाद कार्यालय में पहुंचकर स्टाफ सदस्यों की मीटिंग की इस मीटिंग में उनसे स्कूल में छात्राओं को पढ़ाने को लेकर बातचीत की।

इसके बाद कक्षाओं में पहुंचकर छात्राओं से उनके सामने आने वाली समस्याओं को लेकर जानकारी हासिल की। इस दौरान छात्राओं ने स्कूल में आते समय और जाते समय परेशानियों की जानकारी दी है। परंतु इस पर उन्हें डर कर नहीं, बल्कि डटकर सामना करने के लिए प्रेरित किया। छात्राओं से पढ़ाई को लेकर भी जानकारी हासिल की। इसमें छात्राओं में यह कमी महसूस की कि छात्राएं काफी दवाब मानकर पढ़ाई करतीं है। इस पर स्टाफ सदस्यों को उन्हें दवाब को जानकार उनका दवाब दूर कर पढ़ाने के आदेश दिए हैं।

स्कूल के प्रिंसिपल पवन गर्ग ने बताया कि छात्रा उपासना 11वीं कक्षा में आर्ट संकाय की मॉनीटर है। इस छात्रा ने दसवीं कक्षा में भी 92 फीसद अंक प्राप्त किए थे। यह अक्सर पढ़ाई को लेकर होने वाली अन्य गतिविधियों में हिस्सा लेती है और दूसरी छात्राओं की पढ़ाई में सहायता करती है। इसलिए ही इस छात्रा का चयन इतिहास विषय की प्राध्यापिक मधु ने किया है।

छात्रा उपासना ने बताया कि महिला दिवस के उपलक्ष्य में स्कूल के प्रिंसिपल ने एक दिन के लिए प्रिंसिपल की कुर्सी पर बैठाया है। इस दौरान छात्रा उपासना ने अपने सपने के बारे में बताया कि वह कड़ी मेहनत कर आइएएस अधिकारी की कुर्सी पर बैठना चाहती है। उपासना ने बताया कि उसका गांव भानपुरा है। उसके पिता अशोक खेती करते हैं और माता बबीता गृहिणी हैं। वह वर्तमान में शहर की बैंक कालोनी में अपने चाचा-चाची के साथ रह रही है। उसके चाचा सुशील एक व्यापारी है। वह इस स्कूल में छठी कक्षा से ही पढ़ाई कर रही हैं।

Find Jobs? Join Our Whatsapp Group