पहली बार में किसान के बेटे ने UPSC परीक्षा में किया टॉप, जानें सफलता का मंत्र

Chopal Tv, New Delhi

फर्श से अर्श तक सफर तय करना हर किसी के बस की बात नहीं होती। लेकिन कुछ जनूनी युवा में कामयाबी की लगन इतनी ज्यादा होती है कि हर परिस्थिति से लड़कर वो अपनी जीत पक्की कर लेते है।

ऐसी ही कामयाबी की मिशाल है इलाहाबाद उत्तर प्रदेश के अनुभव सिंह। जिन्होंने ना सिर्फ आईआईटी क्लियर किया बल्कि दो बार यूपीएससी की कठिन परीक्षा पास की। अनुभव के पिता किसान और मां सरकारी स्कूल में क्लर्क है। अनुभव ने गांव में रहकर हिंदी मीडियम से पढ़ाई की।

साल 2011 में उन्होंने जेईई परीक्षा की तैयारी। उनकी सफलता रंग भी लाई और उनका सिलेक्शन हो गया। इसके बाद उन्होंने आईआईटी रुड़की से ग्रेजुएशन पूरा किया। साथ ही वह सिविल सेवा की तैयारी भी शुरू की। अनुभव सिंह का पहले अटेम्पट में ही सिलेक्शन हो गया था।

पहली बार में अनुभव का सिलेक्शन तो हो गया लेकिन रैंक कम आने के बाद कारण उन्हें इंडियन रेवेन्यू सर्विस मिला। उन्होंने यहां ज्वॉइन तो किया लेकिन यूपीएससी की तैयारी को भी जारी रखा। दूसरे अटेम्पट में उन्होंने यूपीएससी सीएसई परीक्षा पास की।

अनुभव ने आठवीं रैंक के साथ यूपीएससी में टॉप किया। साल 2017 में उनका आईएएस बनने का सपना साकार हुआ। अनुभव सिंह कहते हैं कि यूपीएससी का सिलेबस ठीक से देखें और प्री, मेन्स और इंटरव्यू तीनों की तैयारी अच्छे से करें।

जो परीक्षा पास आए पहले उसी पर ध्यान दें। एनसीईआरटी की किताबों को आवश्य पढ़ें। साथ ही बार-बार रिवाइज करें। अनुभव सलाह देते हैं कि परीक्षा की तैयारी को लेकर हमेशा गंभीर रहना जरूरी है। चुनी हुई किताबों को बार-बार पढ़ें और जमकर अभ्यास करें।

पहली बार में किसान के बेटे ने UPSC परीक्षा में किया टॉप, जानें सफलता का मंत्र

Scroll to Top