Jobs haryana news
SI भर्ती के चयनित अभ्यर्थियों के लिए जरूरी सुचना, करना होगा ये काम, नहीं होने पर चयन रद्द और केस भी होगा दर्ज
 
Selected Candidates Of Sub inspector Recruitment Will Have To Give Attested Affidavit From SDM Or Tehsildar, If Found Fake, The Selection Will Be Canceled, Case Will Be Registered.

सब इंस्पेक्टर की भर्ती में सामाजिक और आर्थिक आधार पर पांच अंक लेने वाले चयनित अभ्यर्थी संदेह के दायरे में आ गए हैं। इसके चलते जांच भी शुरू हो गई है। हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (एचएसएससी) को सोशल मीडिया और व्यक्तिगत तौर पर लिखित शिकायतें मिली थीं।

ऐसा भी मामला पहुंचा है कि झूठे शपथ पत्र देने वालों में कुछ पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। हालांकि, पूरा खुलासा जांच रिपोर्ट आने के बाद ही होगा। दरअसल, प्रदेश में हाल में 465 पुरुष व महिला एसआई का चयन हुआ। इनमें से 320 उम्मीदवार ऐसे हैं, जिन्होंने एचएसएससी को शपथ पत्र दिया था कि उनके घर में कोई भी सरकारी नौकरी में नहीं है। इसके चलते उन्हें 5 अतिरिक्त अंक मिल गए।

झूठे शपथ पत्र की शिकायतें कमीशन तक पहुंचीं तो एचएसएससी के चेयरमैन भोपाल सिंह ने मुख्य सचिव विजय वर्धन को पत्र लिखा कि चयनितों के शपथ पत्र एसडीएम या तहसीलदारों से बनवाएं। पूरी तहकीकात करने के बाद ही शपथ पत्र बनाकर दें। कमीशन ने सामाजिक-आर्थिक आधार पर 5 अंक लेने वाले सभी चयनितों को 22 नवंबर को अधिकारी से सत्यापित शपथ पत्र मंगवाया है। जिन चयनितों ने झूठे शपथ पत्र दिए हैं, उनका न केवल सिलेक्शन रद्द होगा, बल्कि उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी। सूत्रों का कहना है कि 22 ऐसे चयनित हैं, जिनके नाम सीआईडी को दिए गए हैं। बताया गया है कि इनमें से ज्यादातर के शपथ पत्र झूठे मिले हैं।

किसी अभ्यर्थी के पिता की मौत 42 या इससे कम उम्र में हो जाती है। या पिता की मौत के समय अभ्यर्थी 15 साल से कम उम्र का रहा हो तो अभ्यर्थी को 5 अतिरिक्त अंक दिए जाते हैं। वहीं, यदि परिवार में कोई सरकारी नौकरी में नहीं है तो उसके भी अतिरिक्त 5 अंक देने का प्रावधान है।

पुलिस भर्ती परीक्षा तक युवाओं की ओर से दिए गए शपथ पत्र के आधार पर ही उन्हें सामाजिक-आर्थिक आधार पर 10 अंक दिए गए थे। इनमें 5 अंक उन्हें मिलते हैं, जिनके परिवार में कोई सरकारी नौकरी में नहीं है। यहीं पर कुछ युवा गड़बड़ी करते हैं। अब तक इनके शपथ पत्रों की जांच नहीं हो रही थी।

कमीशन तक शिकायत पहुंची तो सभी को जांच के दायरे में ले लिया गया। लाभ लेने वालों से अब अधिकारियों से सत्यापित शपथ-पत्र मांगा है। 22 नवंबर को पंचकूला के परेड ग्राउंड में सुबह 9 बजे पुरुष एसआई तो दोपहर 12 बजे महिला एसआई में चयनितों को शपथ पत्रों के साथ बुलाया गया है।

हमारे पास शिकायत पहुंची थी कि कुछ चयनितों ने सामाजिक और आर्थिक आधार पर गलत शपथ पत्र देकर लाभ लिया है। इसलिए अब जांच शुरू करा दी गई है। सभी चयनितों से एसडीएम या तहसीलदार से सत्यापित शपथ पत्र मांगा है। -भोपाल सिंह, चेयरमैन, हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन