Jobs haryana news
हरियाणा के इन 100 गांवों को 1 नवंबर से मिलेगी 24 घंटे बिजली, यहाँ देखें गाँव की लिस्ट
 
these-100-villages-of-haryana-will-get-24-hours-electricity-from-november-1

हरियाणा सरकार ने हरियाणा दिवस यानी 1 नवंबर को प्रदेश के 100 और गांवों को 24 घंटे बिजली की सप्लाई सुनिश्चित करने वाले फीडरों से जोड़कर ग्रामीणों को दिवाली से पहले तोहफा दिया है।

बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि ‘म्हारा गांव-जगमग गांव’ योजना के तहत अब प्रदेश के 5487 गांवों को 24 घंटे बिजली सप्लाई दी जा रही है, शेष गांवों को भी जल्द 24 घंटे बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करवाएंगे।

शहर की तर्ज पर ग्रामीण क्षेत्र में भी 24 घंटे बिजली की आपूर्ति हो इसके लिए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने 1 जुलाई, 2015 को कुरुक्षेत्र जिले के दयालपुर गांव से इस मनोहर योजना की शुरुआत की थी। इसी दिशा में कदम बढ़ाते हुए हरियाणा दिवस के अवसर पर उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम (UHBVN) के 67 गांव और इस योजना में शामिल किए गए हैं, जो अब पूरी तरह जगमग होंगे।

सोनीपत जिला के 33 गांव- हरसाना खुर्द, हरसाना मालचा, सेरसा, खटकड़, साफियाबाद, सबोली, नंगल, पातला, रायपुर, शाहपुर तुर्क, किशोरा, कमाशपुर, भूरी, राजपुर, कामी, देबरू, कुराड़, सरधाना, बाली, नयाबांस, अहीर माजरा, गंगाणा, राणा खेड़ी, सिवानामल, नूरांखेड़ा, कोहला, ईशापुर खेड़ी, लाठ, जौली, बिढाल, ठसका, अहुलाना, मोहाना शामिल हैं।

पानीपत जिला के 9 गांव-डिकाडला, गढ़ी केवल, उझा, जलपाड़, कुराड़, धनशौली, उरलाना खर्द, दरियापुर और जीतगढ। रोहतक जिला के 10 गांव- गढ़ी खेड़ी, ताजा माजरा, गिरावड़, सिंगपुरा खर्द, बहुजमालपुर, सांपल, बसाना, मुरादपुर टेकना, निरोठी, खुरामपुर।

झज्जर जिला के 14 गांव, जिसमें मातनहेल, मोहनबाड़ी, झांसवा, झाड़ली, खानपुर कलां, खानपुर खुर्द, चेड़ा, दरियापुर, लागरपुर, अमादलपुर, बिलौचपुरा, शाहजहांपुर, कंुजिया और भिंडावास तथा कैथल जिला का 1 गांव नंदसिंह वाला शामिल है।

इसी प्रकार दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम (डीएचबीवीएन ) के 33 गांव इसमें शामिल किए गए हैं, जो अब शहर की तरह चमकेंगे, इसमें जिला चरखी दादरी के 6 गांव- जगराम बास, हुई, डालावास, मांडी केहर, फतेहगढ़ और सेहुवास, भिवानी जिला के 16 गांव- कैरू, आसलवास दूबिया, आसलवास मरेटा, लहलाना, भाखड़ा, हरिपुर, गोलपुरा, ढाणी शंकर, चैनपुरा, शेरपुरा, मोईला, घड़वा, कलौंद, गुढ़ा, बख्तावरपुरा और खरकारी एवं महेन्द्रगढ़ जिला के 11 गांव -बेवल, झिंगवान, खैराणा, मुंडिया खेड़ा, मुडैन, करीरा, कोटिया, बुचावास, अघियार, पाथेड़ा और कैमला गांव शामिल हैं।

इससे पहले प्रदेश के 5387 गांवों को 24 घंटे बिजली आपूर्ति दी जा रही थी, लेकिन अब और 100 नए गांवों को ’म्हारा गांव-जगमग गांव’ योजना में जोड़ दिया गया है। बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि वर्तमान में प्रदेश के 77 प्रतिशत से अधिक गांवों को पूरी तरह जगमग किया जा चुका है।

प्रदेश के 10 जिलों में पहले ही 24 घंटे बिजली सप्लाई
प्रदेश के पंचकूला, अंबाला, कुरूक्षेत्र, यमुनानगर, करनाल, गुरूग्राम, फरीदाबाद, सिरसा, रेवाड़ी और फतेहाबाद शामिल है, जहां 24 घंटे बिजली उपलब्ध है।

इस योजना के तहत नए कनेक्शन जारी करना, खराब मीटरों को बदलना, बिजली बिलों को ठीक करना, अनाधिकृत बिजली लोड को नियमित करना, बिजली बिलों का प्रभावी वितरण, पुराने क्षतिग्रस्त कंडक्टर को एबी केबल से बदलना तथा उपभोक्ताओं के बिजली मीटरों को परिसर के बाहर स्थानांतरित करना आदि कार्य शामिल हैं।

इसी योजना के तहत ग्रामीणों से बकाया बिजली बिलों का भुगतान करने, बिजली चोरी रोकने बारे आग्रह किया जाता है, जिसके फलस्वरूप जिन ग्रामीण फीडरों का लाइन लॉस कम होता है, उन गांवों को चिन्हित करके 24 घंटे निर्बाध बिजली आपूर्ति शुरू कर दी जाती है।