Jobs haryana news
Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana: जनधन खातो का एक और बड़ा Update, जानिए आप किस तरह खुलवा सकते है अपना खाता
 
जन धन खाता

Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana : Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana (PMJDY) के तहत खुले बैंक अकाउंट्स में कुल जमा राशि 1.5 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गई है। फाइनेंस मिनिस्ट्री द्वारा हाल में जारी डेटा के मुताबिक दिसंबर 2021 के आखिर में 44.23 करोड़ से अधिक जनधन अकाउंट्स में 1,50,939.36 करोड़ रुपये जमा थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त, 2014 को इस योजना की घोषणा की थी। इस योजना का लक्ष्य 18 साल से अधिक आयु के देश के हर नागरिक को बैंकिंग सिस्टम से जोड़ना है। वित्तीय समावेशन (Financial Inclusion) से जुड़ी इस योजना ने पिछले साल अगस्त में सात साल पूरे किए।

The total deposits in bank accounts opened under Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana (PMJDY) have crossed Rs 1.5 lakh crore. According to the recently released data by the finance ministry, Rs 1,50,939.36 crore was deposited in over 44.23 crore Jan Dhan accounts at the end of December 2021. The scheme was announced by Prime Minister Narendra Modi on August 15, 2014. The goal of this scheme is to connect every citizen of the country above the age of 18 years to the banking system. This scheme related to financial inclusion completed seven years in August last year.

Major Benefits of Jan Dhan Accounts

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के दिशा-निर्देशों के मुताबिक Jan Dhan Accounts सहित सभी बेसिक सेविंग बैंक डिपॉजिट अकाउंट होल्डर्स को कोई मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने की जरूरत नहीं होती है। इस योजना के तहत सरकार बेहद सस्ते दरों पर लोगों को विभिन्न फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स और सर्विसेज उपलब्ध कराती है। इतना ही नहीं जनधन खाताधारकों को स्कॉलरशिप, सब्सिडी, पेंशन और कोविड राहत फंड डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) के जरिए सीधे उनके बैंक खातों में मिलती है।

Scheme Started in 2014

वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने वाली इस योजना ने पिछले साल अगस्त में क्रियान्वयन के सात साल पूरे किए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में जनधन योजना शुरू करने की घोषणा की थी।

Know which Banks Have How Many Accounts

वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, कुल 44.23 करोड़ जनधन खातों में से 34.9 करोड़ खाते सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में और 8.05 करोड़ खाते क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों में हैं। इसके अलावा शेष 1.28 करोड़ खाते प्राइवेट सेक्टर के बैंक में ओपन कराएं गए हैं।

Who Can Open Account

इस योजना के तहत देश का कोई भी ऐसा व्यक्ति अकाउंट खुलवा सकता है जिसका अभी किसी बैंक में खाता नहीं है। 10 साल से ज्यादा उम्र के नाबालिग भी इस योजना के तहत अकाउंट खुलवा सकते हैं।

Know the Process

अगर आपका अभी किसी भी बैंक में कोई अकाउंट नहीं है तो https://pmjdy.gov.in/home से अंग्रेजी या हिंदी में उपलब्ध फॉर्म को डाउनलोड कर लीजिए। अब आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, मनरेगा कार्ड, पासपोर्ट और पैन जैसे डॉक्युमेंट्स के साथ किसी भी बैंक की निकटतम शाखा में जाइए। अब भरे हुए फॉर्म और इन डॉक्युमेंट्स की मदद से आप अकाउंट खुलवा सकते हैं।

Issued Rupay Card

इसके अलावा पीएमजेडीवाई के 31.28 करोड़ लाभार्थियों को रुपे कार्ड जारी किया गया है। यहां उल्लेखनीय है कि समय के साथ रुपे कार्ड की संख्या और इसका इस्तेमाल बढ़ा है। इस योजना के पहले साल में 17.90 करोड़ खाते खोले गए थे। किसी खाताधारक द्वारा किए गए लेनदेन के आधार पर जन धन खातों में शेष या बैलेंस रोजाना के आधार पर बदल सकता है। किसी दिन खाते में ‘बैलेंस’ शून्य पर भी आ सकता है।

24.61 Crore Women Have Accounts

सरकार ने पिछले महीने संसद को सूचित किया था कि आठ दिसंबर, 2021 तक जनधन खातों में शून्य शेष या बैलेंस वाले खातों की संख्या 3.65 करोड़ थी। यह कुल जन धन खातों का 8.3 फीसदी है। आंकड़ों के मुताबिक, 29.54 करोड़ जनधन खाते ग्रामीण और अर्द्ध-शहरी बैंक शाखाओं में हैं। 29 दिसंबर, 2021 तक कुल जन धन खाताधारकों में से 24.61 करोड़ महिलाएं थीं।