Jobs haryana news
बच्चों की पढाई की चिंता जाये भूल, बस करें ये छोटा सा काम, जानिए क्यों हैं जरूरी
 
 Forget the tension of the child's education

बच्चों के भविष्य के लिए शुरुआत से पेरेंट्स कई प्लान तैयार कर लेते हैं, लेकिन पढ़ाई को लेकर फिर भी टेंशन रहती है। दरअसल स्कूल, कॉलेज और आगे बच्चा कौनसा कोर्स चुनना चाहता है, इसके लिए प्रोपर इन्वेस्टमेंट प्लान बनाना बेहद जरूरी है। आज के समय में जितना अच्छा कोर्स उतना ज्यादा आपको खर्च भी करना पड़ता है और अंतिम समय में यह प्लानिंग हर बार काम नहीं आ पाती। लेकिन अगर आप भी अभी अपने बच्चे के लिए इन्वेस्टमेंट प्लानिंग करने की सोच रहे हैं, तो आपके पास बेहद अच्छा मौका है।

बच्चों की शिक्षा का पहला पड़ाव स्कूल होता है, और दूसरा 18 साल के बाद जब बच्चा अपना स्कूल पूरा कर कॉलेज या फिर किसी कोर्स का चुनाव करता है। ऐसे में दोनों ही समय के लिए आपकी इन्वेस्टमेंट प्लानिंग काफी स्ट्रॉग होनी चाहिए। बेशक पहले पड़ाव स्कूल में यह थोड़ा ऊपर नीचे हो जाए, तो मैनेज किया जा सकता है, लेकिन दूसरे पड़ाव के लिए आपको अच्छी प्लानिंग की आवश्यकता रहती है।

बच्चे के भविष्य के लिए और पढ़ाई के लिए एक्टिव फाइनेंशियल प्लानिंग की बेहद जरूरत है। ऐसे में आप चाहे तो systematic withdrawal child plan में निवेश कर सकते हैं। इसमें निवेश करने के बाद आपको टेंशन लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी। दरअसल इसमें आप अपनी निवेश राशि से जरूरत पड़ने पर पैसे निकाल सकते हैं। साथ ही, फंड में निवेश करने से आपको औसतन 12 फीसदी से 13 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है। ऐसे में आप समय समय पर विड्रॉल करके, औसतन रिटर्न का फायदा भी उठा सकते हैं।

बता दें, एक बार में पूरे पैसे निकालने की तुलना में ज्यादा यूनिट प्राइस सुरक्षित होते है और इसमें निवेशक का पैसा तब तक बढ़ेगा, जबतक विड्रॉल रेट से ज्यादा रेट दिखाई देगा। यह कुछ फंड्स है, जिसपर आप निवेश कर सकते हैं।

– एक्सिस ब्लू चिप फंड (Axis blue chip fund)
– एसबीआई स्मॉल कैप फंड (SBI small cap fund)
– मिरे एसेट इमर्जिंग ब्लूचिप फंड (Mirrae asset emerging blue chip fund)

दरअसल बच्चों की पढ़ाई के लिए अगर आप इन्वेस्टमेंट प्लानिंग कर रहे हैं, तो गोल को हासिल करने के लिए भी आपको निवेश राशि बढ़ाने की कोई आवश्यकता नहीं है। इसके साथ ही अगर आप अपने खर्चों को स्ट्रक्चर करेंगे, तो आपके फंड भी लंबे समय तक टिक सकेंगे। आप अगर ज्यादा पैसा इकट्ठा करना चाहते हैं या फिर लॉन्ग टर्म के लिए इन्वेस्ट करना चाहते हैं, तो इसमें रिटर्न्स मिल जाते हैं।