Competition Exam 

अगर आप भी कर रहें हैं कम्पटीशन परीक्षा की तैयारी तो ऐसे बनाए पढने का शेड्यूल

Jobs Haryana, Competition Exam 

अगर आप अभी किसी कम्पटीशन परीक्षा को pass करना चाहते हैं, उस एग्जाम में क्वालीफाई होना चाहते हैं तो उसके लिए आपको सही तरीका अपनाना बहुत जरूरी होता है। आपको समय के साथ साथ उस exam के लिए तैयारी करनी पड़ेगी। पर किसी भी कॉन्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी कैसे करें इसके बारे में काफी लोग चिंतित रहते हैं और हुए भी ना क्यों?

हर साल सरकारी नौकरी पाने के लिए लाखों विद्यार्थी फार्म भरते हैं और उनमें से कुछ ही students select हो पाते हैं। तो ऐसे ही आप अंदाजा लगा सकते हैं कि competition कितना बढ़ गया है, तो अगर आप भी इस कंपटीशन में success पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको उस एग्जाम को पास करने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है और सही तरीके से तैयारी भी करनी पड़ती है। तो कॉन्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी कैसे करें यह जानने के लिए इस लेख को पूरे होने तक जरूर करें।

किसी भी competitive exam को पास करने के लिए सबसे जरूरी होता है कि आप exam की तैयारी करने के लिए time table बनाएं। एग्जाम का जो भी सिलेबस हो, जो भी subject हो उसका आपको टाइम टेबल बनाना होगा और उस टाइम टेबल के हिसाब से आपको पढ़ना है और उस हिसाब से आपको तैयारी करनी है। पर ध्यान रहे आप टाइम टेबल बनाते वक्त यह जरूर देखें कि सभी subject को पूरा समय तो मिल रहा है कि नहीं।

Girl student learning

आप जो competitive exam देने वाले हो उसमें कई सारे subject होंगे, कई सारे विषय होंगे और उन सभी विषयों में से कुछ ऐसे भी विषय होंगे जो आपको पसंद नहीं होंगे, पर फिर भी आपको उस विषय की पढ़ाई तो करनी ही पड़ेगी। जो भी subject आपको पसंद नहीं है उस subject पर आप थोड़ा ज्यादा समय दे। ताकि आप उस विषय में भी अच्छी तैयारी कर सकें।

आप किसी भी कॉन्पिटिटिव एग्जाम के पेपर को देख लीजिए उसमें math, reasoning, general aptitude, general knowledge, G।K, current affairs, English और इतिहास के बारे में तो प्रश्न होते ही है। चाहे आप ssc, ips, upsc, bank किसी भी competitive exam कि तैयारी करो उसमें यह सभी topics के बारे में तो आपको पढ़ना ही होगा। आज के इस लेख में मैं आपको इन्हीं टॉपिक को अच्छी तरीके से कैसे तैयार करें इसके बारे में कुछ जानकारी शेयर करने वाला हूं। exam की तैयारी के tips in hindi।

इससे पहले आपको यह पता होना चाहिए कि reasoning क्या होता है और हर एक प्रतियोगी परीक्षा में रिजनिंग के सवाल क्यों पूछे जाते हैं? रिजनिंग के सवाल इसलिए पूछे जाते हैं ताकि वह आप की बुद्धिमता की परीक्षा कर सकें और यह पता करने के लिए कि आप कितनी जल्दी सोच सकते हो और किसी भी प्रश्न का उत्तर आप कितने समय में दे पाते हो। reasoning के प्रश्नों को solve करने के लिए आपको बुद्धि का प्रयोग करना पड़ेगा। ऐसे प्रश्न का जवाब देना वैसे तो आसान होता है पर कभी-कभी ऐसे सवाल भी पूछे जाते हैं जिनका जवाब पता करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है।

रीजनिंग के questions में आपको age related questions, coding-decoding, sitting arrangement और वेन डायग्राम जैसे प्रश्न पूछे जाते हैं। इसे आपको अपनी बुद्धिमता के हिसाब से solve करना होता है। आप कोई भी logic अपना सकते हैं उस question को solve करने के लिए। रिजनिंग के लिए तैयारी करने के लिए आपको ज्यादा से ज्यादा रिजनिंग के questions को solve करने की practice करनी चाहिए। आप जितनी ज्यादा प्रैक्टिस करोगे आपको उतना ही फायदा होगा और अब तो इंटरनेट का जमाना है, इंटरनेट पर आपको ऐसे कई सारे रिजनिंग से related questions मिल जाएंगे और उनको कैसे सॉल्व करते हैं यह भी आपको बताया जाता है।

Find Jobs? Join Our Whatsapp Group