Uncategorized ऑल इंडिया जॉब्स टीचिंग जॉब्स प्राइवेट जॉब्स बैंकिंग जॉब्स सरकारी नौकरियां हरियाणा जॉब्स

सरकारी पुरुष कर्मचारियों को भी मिलेगी चाइल्ड केयर लीव, होगी यह शर्त

Jobs Haryana,

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने सोमवार को कहा कि ऐसे सरकारी पुरुषकर्मी अब बच्चों की देखरेख के लिए छुट्टी लेने के हकदार हैं जो अकेले अभिभावक हैं। उन्होंने कहा कि ‘सिंगल मेल पैरेंट’ में ऐसे कर्मचारी शामिल हैं जो अविवाहित, विधुर या तलाकशुदा हैं। यह सरकारी कर्मचारियों के जीवन को आसान बनाने के लिए एक बड़ा सुधार कदम है।

Advertisement

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस संबंध में आदेश कुछ दिन पहले जारी किया गया था, लेकिन किसी वजह से यह ज्यादा चर्चा में नहीं आ पाया। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा है कि चाइल्ड केयर लीव (CCL) पर रहते हुए कर्मचारी अगर चाहे तो लीव ट्रैवल कंसेशन (LTC) का भी फायदा उठा सकते हैं।

कर्मचारी पहले साल सभी पेड लीव को चाइल्ड केयर लीव के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं। फिर अगले साल 80 फीसदी पेड लीव ही चाइल्ड केयर लीव के तौर पर इस्तेमाल की जा सकेंगी। साथ ही पैरेंट्स अब अपने दिव्यांग बच्चे की देखभाल के लिए चाइल्ड केयर लीव ले सकते हैं। इसके लिए बच्चे की उम्र की कोई सीमा नहीं होगी। पहले इसके लिए बच्चे की अधिकतम उम्र सीमा 22 साल तय की गई थी।

केंद्र सरकार ने पिछले साल चाइल्ड केयर लीव का फायदा सिंगल पुरुष सैन्यकर्मियों को दिए जाने की मंजूरी दी थी। इससे पहले सीसीएल केवल रक्षा बलों में महिला अधिकारियों को ही दी जाती थी। सीसीएल लेने के लिए पहले 40 प्रतिशत विकलांगता वाले बच्चे के मामले में 22 साल की आयु सीमा को हटा दिया गया था। साथ ही एक बार में सीसीएल लेने की न्यूनतम अवधि को 15 दिन की बजाय कम करके पांच दिन कर दिया गया था। इससे सिंगल (किसी भी कारण से जीवनसाथी के बिना जीवन बसर करने वाले) पुरुष सैन्यकर्मी सीसीएल का लाभ उठा सकते हैं। सिंगल पुरुष सैन्यकर्मी और रक्षा बलों की महिला अधिकारी भी 40 प्रतिशत विकलांगता वाले बच्चे के मामले में सीसीएल की सुविधा का लाभ उठा सकेंगे और इसके लिए बच्चे की आयु की कोई सीमा नहीं होगी।

Advertisement

रेलवे में एकल पिता को भी अब अप्रैल से अपने नन्हे-मुन्नों की देखभाल के लिए चाइल्ड केयर लीव मिलेगी। रेलमंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को राज्यसभा में बताया कि सरकार ने लैंगिक समानता और न्याय को बढ़ावा देने के लिए यह फैसला किया है। गोयल ने बताया कि सरकार की नीति के तहत रेलवे में एकल पिता को बच्चे की देखभाल के लिए दो वर्ष का अवकाश मिल सकता है। रेलकर्मी अप्रैल से इस सुविधा का लाभ ले सकेंगे।

अभी रेलवे अपनी महिला कर्मियों को बच्चे के जन्म के समय या 18 वर्ष तक के अपने नाबालिग बच्चों की देखभाल के लिए दो वर्ष की चाइल्ड केयर लीव देता है। इसमें कर्मी को एक साल तक पूरा वेतन मिलता है और अगले एक साल 80 फीसदी वेतन दिया जाता है। रेलवे ने 11 दिसंबर 2018 को एकल पिता को चाइल्ड केयर लीव देने का फैसला किया था जिसे अप्रैल से लागू किया जा रहा है।

Advertisement

Related posts

HSSC की इस भर्ती का अंतिम परिणाम जारी, यहां देखें पूरी लिस्ट

Jobs Haryana

हरियाणा बोर्ड से मेरिट बेस्ड बारहवीं छात्रवृति के लिए करें आवेदन, यहां देखें योग्य छात्रों की लिस्ट

Jobs Haryana

CSIR UGC NET June Recruitment 2020 – Apply Online for National Eligibility Test

Admin

Leave a Comment