कम उम्र में अनन्या बिड़ला ने कमाया बड़ा नाम, हर दिन गढ़ रही है सफलता की कहानियां

Chopal Tv, New Delhi

एक लंबे वक्त तक हमारे देश में महिलाओं को कम आंका जाता था। लेकिन अब महिलाओं ने ऐसी ऐसी कामयाबियां हासिल की है कि सुनने वाला हक्का बक्का रह जाता है। अनन्या बिड़ला ऐसा ही एक नाम है। 22 साल की उम्र में अनन्या बिड़ला एक बड़ी उपलब्धियां हासिल की है।

अनन्या एक और कंपनी लॉन्च करने की तैयारी में हैं। अनन्या भारत के मशहूर बिड़ला औद्योगिक घराने से हैं। उनके पिता कुमार मंगलम बिड़ला देश के आठवें सबसे अमीर व्यक्ति हैं। लेकिन अनन्या बिजनस जगत में अपना मुकाम खुद बनाना चाहती हैं।

अनन्या ने लगभग 3 साल पहले 1 मार्च 2013 को अपनी पहली कंपनी लॉन्च की। इस कंपनी का नाम Svatantra है। यह कंपनी माइक्रोफाइनेंस के क्षेत्र में काम करती है। अनन्या की कंपनी का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण उद्यमियों, विशेषकर महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना है।

Svatantra की सफलता से उत्साहित अनन्या Svatantra Online Srvices Pvt. Ltd. नाम से एक और कंपनी खोलने जा रही है। यह कंपनी CuroCarte.com नाम की एक ई-कॉमर्स वेबसाइट के जरिए एशिया और यूरोप के 9 देशों से लाई गईं लग्जरी घरेलू सजावटी वस्तुओं की बिक्री करेगी।’ अनन्या ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से इकनॉमिक्स और मैनेजमेंट की पढ़ाई की है।

पढ़ाई करते हुए अनन्या ने यह संकल्प लिया था कि वह एक उद्यमी बनेंगी और ग्रामीण भारत में सकारात्मक बदलाव लाने की कोशिश करेंगी। अनन्या का कहना है कि वह जीवन में दो महिलाओं से बेहद प्रभावित रही हैं। पहली मदर टेरेसा और दूसरी उनकी घरेलू सहायिका लता।

उनके घर में काम करने वाली लता अनन्या के साथ तबसे हैं जब वह सिर्फ 6 महीने की थीं। वह लता के जीवन में मुश्किलें में सकारात्मक रहना सीखती है। अनन्या 12 साल की उम्र से कविताएं लिखती है। कम उम्र में ही बिजनस के क्षेत्र में सफलता और उनकी सोच और जज्बे को देखकर हर कोई प्रेरित होता है।

Scroll to Top