Jobs Haryana

Vidur Niti On Woman: महिला के चरित्र पर चाणक्य नीति से भी ज्यादा विदुर नीति में हैं चौंकाने वाले दावे, खुद करें ट्राई

Vidur Niti On Woman: चाणक्य के साथ साथ विदुर ने भी महिलाओं के मान, सम्मान, चरित्र समेत अन्य बिंदुओं पर जमकर प्रकाश डाला है. 

 | 
Vidur Niti On Woman: महिला के चरित्र पर चाणक्य नीति से भी ज्यादा विदुर नीति में हैं चौंकाने वाले दावे, खुद करें ट्राई

Vidur Niti On Woman: महिलाओं पर जितना कौटिल्य चाणक्य ने लिखा है.. शायद उतना ही महाभारत के महात्म विदुर ने भी अपने विचार रखें हैं. चाणक्य ने महिलाओं के मान, सम्मान, चरित्र समेत अन्य बिंदुओं पर जमकर प्रकाश डाला है. वहीं, महान दार्शनिक विदुर ने भी महिलाओं के गुण-अवगुण को लेकर कई बातें कही हैं. 

महान दार्शनिक विदुर ने कहा है कि महिलाओं के बिना इस सृष्टि और जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है.  महात्मा विदुर ने भी अपनी नीतियों में स्त्रियों के बारे में कुछ ऐसी बातें की  जिसे जानकर पुरुषों से ज्यादा महिलाएं खुश होती हैं. तो आइए जानते हैं विदुर ने महिलाओं के लिए ऐसी क्या बातें कही हैं जिसे जानकर महिलाएं ज्यादा प्रसन्न होती हैं. विदुर के मुताबकि, सनातन धर्म में महिलाओं को देवी कहा गया है. और जहां स्त्री का सम्मान होता है वहीं ईश्वर वास करते हैं.   

महिलाओं का स्वभाव 
महात्मा विदुर ने महिलाओं को भाग्यशाली और सौभाग्यशाली कहा है. विदुर कहते हैं कि प्रकृति ने स्वयं एक स्त्री को उसके स्वभाव के तौर पर कई वरदान दिए हैं. महिला सौम्य, शालीन, कुलीन और   समझदार स्वभाव की प्राणी होती हैं. जिस घर की महिला समझदार होती हैं. उस घर में परिवार में खुशहाली बनी रहती है. उस घर में किसी चीज की कमी नहीं होती है. 

घर की लक्ष्मी 
शास्त्रों में भी महिलाओं को लक्ष्मी कहकर पुकारा जाता है. हालांकि शास्त्रों में लिखी बातों का मतलब समय या स्थान के आधार पर बदल सकता है, लेकिन ये बातें कभी झूठ नहीं होतीं. विदुर कहते हैं कि महिला घर की लक्ष्मी होती है. पुराने समय में अक्सर हमारे पूर्वज भी धन या राशि रखने के लिए महिला को ही देते थे. इसलिए महिला घर की लक्ष्मी कहलाती हैं. 

महिलाएं पूजनीय होती हैं 
महात्मा विदुर ने कहा कि जिस घर में महिलाओं का मान-सम्मान किया जाता है, वहां देवी देवता भी प्रसन्न रहते हैं. और जिस घर में महिलाओं को इज्जत नहीं मिलती वहां से देवता भी प्रसन्न नहीं रहते हैं. इसलिए  घर की महिलाओं को हमेशा आदर-भाव के सम्मान से देखना चाहिए.जिस परिवार में महिलाओं का जितना सम्मान होगा. वह परिवार उतना ही खुशहाल होगा.   

सुख-समृद्धि लाती है महिला 
जीवन में तरक्की हासिल करने और सुख-समृद्धि बनाए रखने के लिए महिलाओं का मान-सम्मान करना जरूरी होता है. क्योंकि एक मनुष्य जीवन भर किसी ना किसी महिला के सानिध्य में रहता ही है. विदुर ने कहा कि किसी भी मनुष्य की सफलता में महिला का अहम योगदान होता है. महिला के त्याग के बगैर कोई पुरुष सफल नहीं हो सकता. उन्होंने आगे कहा कि एक स्त्री के बिना मनुष्य का अस्तित्व कल्पनामात्र है. 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like