Jobs Haryana

टाइम पास के चक्कर में ट्रक ड्राइवर ने 85 महिलाओं को किया ब्लैकमेल, फोन में मिले 485 अश्लील वीडियो

Faridabad Crime इंस्पेक्टर माया ने बताया कि आरोपित बेहद शातिर है। वह फेसबुक से महिलाओं की फोटो उठाकर मोबाइल में एप की मदद से किसी अश्लील फोटो पर उनका चेहरा लगा देता था। इसके बाद यह फोटो उन्हें भेजकर वायरल करने की धमकी देता था। 

 | 
टाइम पास के चक्कर में ट्रक ड्राइवर ने 85 महिलाओं को किया ब्लैकमेल, फोन में मिले 485 अश्लील वीडियो

फरीदाबाद । एडिट करके अश्लील बनाई हुई फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर महिलाओं को ब्लैकमेल करने वाला ट्रक ड्राइवर निकला। गणेश नाम का यह आरोपित मथुरा के गांव नानीगढ़ी का रहने वाला था। आरोपित करीब चार महीने से पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था। इसकी गिरफ्तारी के लिए महिला थाना पुलिस नागौर, अजमेर, जयपुर, किशनगढ़, रुपनगढ़, दौसा, अलवर, भरतपुर जैसे शहरों में छापेमारी कर चुकी है, मगर आरोपित हर बार पुलिस से बचकर निकल जाता था। एनआइटी महिला थाना प्रभारी इंस्पेक्टर माया आरोपित के पीछे लगी हुई थी। अब उन्होंने टीम के साथ आरोपित को अलीगढ़-मथुरा रोड पर एक पेट्रोल पंप से गिरफ्तार किया है। 

अश्लील फोटो पर महिला का चेहरा चिपकाकर करता था ब्लैकमेल 

इंस्पेक्टर माया ने बताया कि आरोपित बेहद शातिर है। वह फेसबुक से महिलाओं की फोटो उठाकर मोबाइल में एप की मदद से किसी अश्लील फोटो पर उनका चेहरा लगा देता था। इसके बाद यह फोटो उन्हें भेजकर वायरल करने की धमकी देता था। आरोपित महिलाओं के साथ अश्लील चैट करता था। महिलाओं को ब्लैकमेल करके वह उनसे उनकी अश्लील फोटो और वीडियो मंगाता था। बदनामी के डर से महिलाएं उसके चंगुल में फंस जाती थी। करीब चार महीने पहले एक महिला ने महिला थाना एनआइटी में शिकायत दर्ज कराई थी। महिला को भी आरोपित ने ब्लैकमेल किया था। इसके बाद टीम ने आरोपित की तलाश शुरू की। 

अब तक करीब 85 महिलाओं को कर चुका है ब्लैकमेल 

डीसीपी क्राइम मुकेश मल्होत्रा ने बताया कि आरोपित का मोबाइल कब्जे में लिया है। उसकी जांच में करीब 60 महिलाओं से मैसेंजर और 25 महिलाओं से वाट्स-एप पर अश्लील चैट पाई गई है। आरोपित अब तक 85 महिलाओं को ब्लैकमेल कर चुका है। उसके मोबाइल में पुलिस को 485 अश्लील वीडियो मिली है। इसमें कई वीडियो उसने महिलाओं को ब्लैकमेल करके मंगवाई थीं। बाकी इंटरनेट से डाउनलोड की थी। 

ढाबे पर मिली सिम से शुरू किया खेल 

आरोपित ने बताया कि कुछ समय पहले राजस्थान में एक ढाबे पर उसे माेबाइल सिम पड़ी मिली थी। सिम को मोबाइल में डाला, तो यह चालू थी। उस सिम से उसने महिलाओं को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। आरोपित केवल अपने टाइम पास और दिल बहलाने के लिए यह काम करता था। उसने किसी महिला से रुपयों की मांग नहीं की। 

कई महिलाएं आत्महत्या की कगार पर पहुंची 

डीसीपी मुकेश मल्होत्रा ने बताया कि कुछ महिलाओं से पुलिस ने बात की, तो पता चला कि आरोपित के चंगुल में फंस चुकी थी और कई बार तो आत्महत्या की सोची। डीसीपी के अनुसार बदनामी के डर से महिलाओं ने पुलिस को शिकायत नहीं दी थी। 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like