Jobs Haryana

Satyapal Malik: 'इंदिरा की सत्ता की तरह PM मोदी भी चले जाएंगे, इसलिए न बिगाड़ें हालात', ऐसा क्यों बोले सत्यपाल मलिक

Satyapal Malik Latest statement on PM Modi: मेघालय के राज्यपाल पद का टर्म पूरा करने के बाद रिटायर हुए सत्यपाल मलिक तीखे तेवर के साथ पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ हमलावर है. उन्होंने पीएम मोदी पर शब्दों के तीर छोड़ते हुए कहा कि जिस तरह अजेय समझी जाने वाली इंदिरा गांधी की सत्ता चली गई थी, उसी तरह एक दिन पीएम मोदी भी चले जाएंगे. इसलिए वे देश के हालात को न बिगाड़ें. 
 | 
'इंदिरा की सत्ता की तरह PM मोदी भी चले जाएंगे, इसलिए न बिगाड़ें हालात', ऐसा क्यों बोले सत्यपाल मलिक

Satyapal Malik on PM Modi: पिछले काफी अरसे से पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी के खिलाफ झंडा बुलंद किए हुए मेघालय के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) ने एक बार फिर शब्दों के बाण छोड़े हैं. पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए मलिक ने कहा कि इंदिरा गांधी भी अपने समय में सर्वशक्तिमान समझती थीं लेकिन उनकी सत्ता भी चली गई. ऐसे ही एक दिन पीएम मोदी भी चले जाएंगे, इसलिए भला हो कि वे देश के हालात न बिगाड़ें.

जयपुर में बोल रहे थे सत्यपाल मलिक

सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) रविवार को राजस्थान विश्वविद्यालय छात्र संघ (RUSU) के एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए जयपुर पहुंचे हुए थे. उन्होंने कहा कि जल्द ही देश में कई स्तर पर लड़ाई शुरू होने वाली हैं. अपने हक के लिए किसान फिर से आंदोलन करेंगे, वहीं देश के नौजवान भी अपने अधिकारों की मांग को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल देंगे. 

'इंदिरा की तरह चले जाएंगे पीएम मोदी'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को एक बार फिर अपने निशाने पर लेते हुए सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) ने कहा, 'मोदी जी को समझना चाहिए कि सत्ता आती-जाती रहती है. आज गद्दी पर कोई होता है, अगली बार कोई और दिखता है. इंदिरा गांधी भी एक जमाने में बहुत पावरफुल थी लेकिन उनकी सत्ता भी चली गई, जबकि काफी लोगों का दावा था कि उन्हें कोई सत्ता से दूर नहीं कर सकता. इसी तरह एक दिन आप भी आप भी चले जाएंगे, लिहाजा बेहतर होगा कि हालात इस कदर न बिगाड़ें कि उसे दोबारा सुधारा न जा सके.' 

'3 साल में नहीं आ सकती बलिदान की भावना'

अपने संबोधन में मलिक (Satyapal Malik) ने केंद्र की नई अग्निवीर योजना पर भी सवाल खड़े किए. मलिक ने कहा कि केवल 3 साल की नौकरी में किसी भी सैनिक के अंदर देशभक्ति और बलिदान की भावना कैसे आ सकती है. सरकार की इस नादानी से देश की सेना कमजोर हो सकती है, जिसका नुकसान पूरे मुल्क को उठाना होगा. 

'बर्बाद हो सकती हैं तीनों सेनाएं'

सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) ने कहा कि उन्हें पता चला है कि अग्निवीर योजना में चयनित होने वाले सैनिकों को ब्रह्मोस, अग्नि, राफेल जैसे संवेदनशील हथियार को टच करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. इससे तीनों सेनाओं में अग्निवीरों और परमानेंट सैनिकों के बीच में भेदभाव बढ़ेगा, जिससे सेनाएं बर्बाद हो सकती हैं. 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like