Jobs Haryana

Rajasthan Politics: 'गद्दार, 10 करोड़ की डील, कभी CM नहीं बन पाएंगे'; गहलोत का पायलट पर बड़ा हमला

Rajasthan के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट पर जमकर हमला बोला है. उन्होंने सचिन पायलट का गद्दार करार दिया है. गहलोत ने सचिन पायलट के बारे में और क्या बोला आइए जानते हैं. 
 | 
'गद्दार, 10 करोड़ की डील, कभी CM नहीं बन पाएंगे'; गहलोत का पायलट पर बड़ा हमला

Ashok Gehlot Statement: एक गद्दार कभी मुख्यमंत्री नहीं हो सकता...कांग्रेस आलाकमान सचिन पायलट को कभी मुख्यमंत्री नहीं बना सकता...एक शख्स जिसके पास 10 विधायकों का समर्थन भी नहीं है. जिसने विद्रोह किया. वो गद्दार हैं. ये बयान राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के हैं. उन्होंने प्रदेश के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट पर निशाना साधते हुए कहा. 

बता दें कि मुख्यमंत्री पद को गहलोत और पायलट के बीच लड़ाई लंबे समय से चल रही है. ये एक ऐसा मुद्दा रहा है जिसने कांग्रेस सरकार के चार वर्षों में दो राजनीतिक संकटों को जन्म दिया. अशोक गहलोत का यह बयान गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के नेता विजय सिंह बैंसला द्वारा राजस्थान में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का विरोध करने की धमकी देने के कुछ दिनों बाद आया है. विजय सिंह ने कहा था कि जब तक कि समुदाय से एक प्रमुख चेहरे सचिन पायलट को मुख्यमंत् नहीं बनाया जाता हम भारत जोड़ो यात्रा का विरोध करेंगे.

सीएम गहलोत ने पायलट पर जमकर बोला हमला

सीएम गहलोत ने पायलट पर 2020 में बगावत को लेकर पार्टी आलाकमान से माफी नहीं मांगने को लेकर भी हमला बोला.सितंबर में अशोक गहलोत के गुट द्वारा विद्रोह के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा, मैं आपको बता रहा हूं वे (राजस्थान कांग्रेस के विधायक) नाराज थे, क्योंकि यह खबर फैलाई गई थी कि सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा. उन्होंने खुद भी इस तरह का व्यवहार किया था.सीएम ने कहा कि हमारे विधायकों को लगा कि सचिन पायलट मुख्यमंत्री बनेंगे. सचिन पायलट ने मेरे विधायकों को बुलाकर कहा था आप आलाकमान पर छोड़ दो. तब विधायकों को लगा कि एक-दो दिन में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री का पद दिया जा सकता है. इस अफवाह के कारण सभी विधायक वहां पर एकत्रित हुए. 

अशोह गहलोत ने आरोप लगाया कि सचिन पायलट ने दिल्ली में दो केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात की थी. गहलोत ने कहा, अमित शाह और धर्मेंद्र प्रधान इसमें शामिल थे. इनकी दिल्ली में सचिन पायलट से मुलाकात हुई थी. सीएम गहलोत ने आरोप लगाया कि किसी को 5 करोड़ तो किसी को 10 करोड़ मिला. 

अशोक गहलोत ने आगे कहा कि, असल में सारा पैसा दिल्ली में बीजेपी ऑफिस ने लिया. गहलोत ने दावा किया कि पायलट खेमे का दौरा धर्मेंद्र प्रधान ने उस समय किया था जब कांग्रेस के अन्य नेताओं को प्रवेश नहीं दिया गया था. अशोक गहलोत ने कहा कि वो कैसे सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बना सकते हैं. जिन लोगों ने 34 दिन झेले, हम जानते हैं कि हम 34 दिन कैसे बचे. हमें राजभवन पर धरना देना पड़ा. मैं भी वहां मौजूद था. हमने सरकार को बचाने के लिए कड़ी मेहनत की. पूरा खेल उनका था. बीजेपी ने 10 करोड़ बांटे थे और मेरे पास इसका सबूत है. 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like