Jobs Haryana

मेरी कहानी: पैसों के लिए मैंने अपने CEO के बेटे के साथ शादी कर ली, लेकिन मैं उससे प्यार नहीं करती

मैं हमेशा से अपने करियर में कुछ करना चाहती थी। मुझे हमेशा से ही सफल बनना था। यही एक वजह भी है कि मैंने एक ऐसे व्यक्ति से शादी की, जोकि मुझे कभी भी प्यार नहीं करता था। लेकिन मैं अपने इस फैसले को लेकर बिल्कुल भी दुखी नहीं हूं। ऐसा इसलिए क्योंकि उससे शादी करने के बाद मुझे वो मिला, जिसकी अपने जीवन में मैंने हमेशा तमन्ना की थी। 
 | 
मेरी कहानी: पैसों के लिए मैंने अपने CEO के बेटे के साथ शादी कर ली, लेकिन मैं उससे प्यार नहीं करती
मेरी कहानी: पैसों के लिए मैंने अपने CEO के बेटे के साथ शादी कर ली, लेकिन मैं उससे प्यार नहीं करती

किसी ने ठीक कहा है कि जीवन में कब-क्या हो जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है। ये कभी भी आपके लिए सबसे अप्रत्याशित मोड़ ला सकता है, जिसकी आपने कभी कल्पना भी नहीं की होती। कभी-कभी जिंदगी में कुछ चीजें जहां अच्छे के लिए होती हैं, तो कई बार आपको भावनात्मक रोलरकोस्टर से गुजरना पड़ता है। मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ था। कुछ मिनटों में मेरा जीवन हमेशा के लिए बदल गया था। रूतबा-पावर और अधिकार को अपनाने के लिए मुझे प्यार को गंवाना पड़ा।


दरअसल, यह सब तब शुरू हुआ था, जब मुझे एक बड़ी कंपनी में काम करने का मौका मिला। मैं वहां पर केवल एक नियमित कर्मचारी थी, जोकि टॉप पर पहुंचने के लिए दिन-रात केवल अपना रास्ता बना रही थी। हालांकि, अमीर और सफल होना इतना भी आसान नहीं है। मर्दों की इस दुनिया में सफलता की सीढ़ी चढ़ने के लिए एक औरत को काफी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। मैंने दिन-रात बहुत मेहनत की। मुझे अपने काम के लिए सराहना भी मिली। लेकिन इस सब ने कभी भी मुझे आगे बढ़ने में मदद नहीं की। (सभी तस्वीरें सांकेतिक हैं, हम यूजर्स द्वारा शेयर की गई स्टोरी में उनकी पहचान गुप्त रखते हैं)

हमें अपने CEO की हर इच्छा माननी थी

-ceo-

मुझे अब इस कंपनी में काम करते हुए 4 साल हो गए थे। मैं दिन-रात खुद को हर तरीके से झोंक रही थी, लेकिन इसके बाद भी मैं सफल नहीं हो पाई। एक दिन मैंने हारकर लगभग इस कंपनी को छोड़ने का फैसला कर ही लिया था कि तभी अचानक से सब कुछ बदल गया। दरअसल, हम सभी कलीग को एक दिन हमारे बॉस ने अपने केबिन में बुलाया, जहां हमें एक बड़े शॉट टेम्पर्ड क्लाइंट की एक नई परियोजना के बारे में जानकरी दी गई थी। वह एक क्रूर सीईओ होने के लिए जाना जाता था। वह बेहद सफल था।

समाज में उनका तगड़ा नाम था। यही एक वजह भी है कि उन्हें हर कोई जानता था। वह जो चाहते थे, उसे पाकर ही रहते थे। हम सभी को इस परियोजना पर संयुक्त रूप से काम करने के लिए कहा गया। मेरे बॉस ने हमें उन्हें बिल्कुल भी निराश न करने की चेतावनी भी दी थी। हमें उनकी हर इच्छा के आगे झुकना ही था। लेकिन मुझे कभी नहीं पता था कि अगले ही पल में मेरी जिंदगी बदलने वाली है।

एक झटके में सब बदल गया

एक दिन वह सीईओ हमारे ऑफिस में आए। उन्होंने हमारे बॉस के साथ एक बैठक बुलाई, जिसके कुछ ही देर बाद मुझे केबिन में बुलाया गया। इस दौरान मैं बहुत ही ज्यादा डरा हुई थी। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर मैंने कोई गलती की होती, तो यह मेरा आखिरी दिन होता। लेकिन हैरानी की बात है कि CEO ने अपने बेटे के लिए मेरा हाथ मांगा।

उनकी इस बात को सुनकर मैं एकदम जम सी गई थी। लेकिन मैंने अपनी बुद्धि लगाते हुए तुरंत पूछा कि इतना बड़ा-सफल CEO मुझे अपने परिवार में शामिल क्यों करना चाहेगा। तभी उन्होंने मुझे जवाब देते हुए कहा कि 'मेरा सबसे छोटा बेटा अभी तक खुद की पहचान नहीं बना पाया है। वह अभी भी एक गैरजिम्मेदार इंसान है।

मैं चाहता हूं कि तुम्हारे जैसी कोई लड़की उससे शादी करे। आप एक अच्छी इंसान हैं। जब आपने जिम्मेदारी लेते हुए काम किया, तो मैं एकदम खुश हो गया था। आप मुझे मेरे पुराने दिनों की याद दिलाती हैं।' उनकी इन बातों को सुनकर मुझे खुद पर काफी गर्व हुआ। मेरे दूर के रिश्तेदारों के अलावा मेरा कोई परिवार नहीं था, जो मेरी शादी की देखने के लिए परवाह करता। ऐसे में मैंने सोचने के लिए उनसे कुछ समय मांगा।

मैं शादी के लिए राजी हो गई

CEO की इन बातों ने मुझे बहुत कुछ सोचने पर मजबूर कर दिया था। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या मैं किसी ऐसे व्यक्ति से शादी कर सकती हूं, जिसके बारे में मैं ज्यादा नहीं जानती हूं? क्या मैं ऐसे परिवार में रह पाऊंगी, जिसके पास पहले से प्रसिद्धि-धन और सफलता है? अगर मैं उनके परिवार में शामिल हो जाती, तो मैं अपनी कंपनी में बहुत बड़े पद पर जा सकती थी।

ऐसा इसलिए क्योंकि वह CEO के बेटे की पत्नी को छोटी भूमिका में काम नहीं करने देते। वहीं अगर मैं अपने तरीके से काम करती हूं, तो इन चीजों को हासिल करने में मुझे बहुत समय लग जाएगा। किसी ऐसे व्यक्ति से शादी करना एक बड़ा फैसला होगा, जो अपने जीवन में पहले ही सफलता का स्वाद चख चुका है। इन्हीं सब बातों को सोचकर मैं शादी के लिए राजी हो गई।

मेरी शादी का दिन आ गया

मेरी शादी की खबर का सभी को पता चल गया। मेरे सहकर्मी मुझसे ईर्ष्या करने लगे थे। इस दौरान मेरे बारे में तरह-तरह की अफवाहें भी उड़ने लगी थीं। हालांकि, मैंने कभी भी इन सब बातों की परवाह नहीं की थी। शादी कुछ ही महीनों में होने थी। इसलिए मीडिया को बताने के लिए एक कहानी तैयार की गई कि हम दोनों एक प्रोजेक्ट पर काम करते हुए एक-दूसरे के प्यार में पड़ गए थे।

ऐसा इसलिए क्योंकि उनका बेटा इस परियोजना की देखरेख कर रहा था। सब कुछ पूरी तरह से ठीक चला और 2018 के अंत तक मेरी शादी हो गई।

हम एक-दूसरे से प्यार नहीं करते

CEO के बेटे से मेरी शादी को 4 साल से ज्यादा हो चुके हैं। हम दोनों एक-दूसरे के प्रति सौहार्दपूर्ण हैं। लेकिन हम एक-दूसरे से प्यार नहीं करते हैं। हम उन दोस्तों की तरह हैं, जिन्होंने मुश्किल समय में एक-दूसरे की मदद की थी। लेकिन इन 4 वर्षों के दौरान, मेरी स्थिति उस नए स्तर पर पहुंच गई, जिसकी मैं कभी कल्पना भी नहीं कर सकती थी।

मैं इस समय काफी खुश हूं कि मैंने अपने करियर को प्यार से ज्यादा चुना क्योंकि ऐसे मौके शायद कभी किसी की जिंदगी में नहीं आते। यही नहीं, इस तरह के फैसले लेने की हर किसी में हिम्मत भी नहीं होती।

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like