Jobs Haryana

Mission 2024: हरियाणा मंत्रिमंडल में फेरबदल की तैयारी शुरू, नॉन परफॉर्मर मंत्रियों की छुट्टी तय

 | 
हरियाणा मंत्रिमंडल में फेरबदल की तैयारी शुरू, नॉन परफॉर्मर मंत्रियों की छुट्टी तय

चंडीगढ़ :- वर्ष 2019 में लोकसभा चुनाव करवाए गए थे, इस चुनाव में 10 सीटों पर BJP ने जीत हासिल की थी. वर्ष 2024 में लोकसभा चुनावो को पूरे 5 वर्ष हो जाएंगे. जिस वजह से 2024 में दोबारा  लोकसभा चुनाव Conduct करवाए जाएंगे. 2024 में होने वाले चुनाव के मद्देनजर ऐसे विधायकों को मंत्री पद दिए जाएंगे जिन्होंने अपने कर्तव्य पूरी निष्ठा के साथ निभाए है. फिलहाल मंत्रिमंडल में से दो मंत्री जो नॉन परफॉर्मेंर है उनकी छुट्टी होने की संभावना है. 

हरियाणा के मंत्रिमंडल में फेरबदल की तैयारिया शुरू 

हरियाणा सरकार ने मौजूदा मंत्रिमंडल में फेरबदल की तैयारियां शुरू कर दी है. वर्तमान मंत्रिमंडल में 14 मंत्री हैं, परंतु सविधान के नियमानुसार ज्यादा मंत्रियों को हरी झंडी नहीं दी जा सकती इसलिए कुछ मंत्रियों को उनके पद से हटाना पड़ सकता है. BJP संसदीय दल के केंद्रीय नेतृत्व में गुरुग्राम में बैठक आयोजित की गई. इस बैठक में CM मनोहर लाल सहित हरियाणा प्रभारी विप्लव देव भी मौजूद थे. इस बैठक में इस बात पर भी चर्चा की गई कि 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव में सांसद राज्य से ही चुनकर आने हैं. 

वर्ष 2024 में आयोजित किए जाएंगे लोकसभा चुनाव 

हाल ही में प्रदेश में पंचायत चुनाव संपन्न करवाए गए है, जबकि मतगणना होनी अभी शेष है. उसके बाद गुरुग्राम, मानेसर, फरीदाबाद निकायो पर भी चुनाव होने बाकि है. वही इस बैठक के दौरान मंत्रिमंडल में नए उम्मीदवारों को जगह देने की बात पर भी विचार किया गया. इस बैठक में CM ने सांसदों से 2024 में होने वाले लोकसभा चुनावो के लिए संसदीय क्षेत्र में रैलिया आयोजित करने के लिए कहा गया. 

विधायकों की संख्या से 15% से अधिक नहीं हो सकते मंत्री   

हाल ही में आदमपुर सीट पर जीत प्राप्त करने के बाद दिल्ली दरबार में भव्य बिश्नोई को भी मंत्री पद दिए जाने के लिए दबाव बनाया जा रहा है. CM मनोहर लाल ही यह निश्चित करेंगे कि मंत्री कौन बनेगा और कौन नहीं. फिलहाल प्रदेश में विधायकों की कुल संख्या 90 है. संविधान में संशोधन के अनुसार मंत्रियों की संख्या कुल विधायकों की संख्या से 15% से अधिक नहीं हो सकती. इस हिसाब से प्रदेश में 13.5 मंत्रियों से अधिक मंत्री नहीं हो सकते, परंतु फिलहाल प्रदेश में कुल 14 मंत्री हैं, जोकि संविधान के विरुद्ध हैं. इसलिए अबकी बार सविधान के नियमानुसार ही मंत्री बनाए जाएंगे. 

 
 

 
 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like