Jobs Haryana

Indian Railway: अब हरियाणा की पटरियों पर चलेंगी हाइड्रोजन गैस ट्रेन, इस जिले में लगेगा हाइड्रोजन गैस प्लांट

 | 
Indian Railway: अब हरियाणा की पटरियों पर चलेंगी हाइड्रोजन गैस ट्रेन, इस जिले में लगेगा हाइड्रोजन गैस प्लांट

जींद :- जब से ट्रेन का आविष्कार हुआ है तब से Train कोयला, डीजल और बिजली जैसे परंपरागत ईंधनों से चलती आ रही है, लेकिन जैसे- जैसे देश विकास की ओर बढ़ रहा है, वैसे- वैसे Train मे भी विभिन्न बदलाव किए जा रहे हैं. हाल ही में रेलवे अधिकारियों ने डीजल और बिजली के बजाए हाइड्रोजन गैस से Train को चलाने का निर्णय किया है. 

2000 गज जमीन पर लगाया जाएगा हाइड्रोजन Plant   

रेलवे अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि जींद जंक्शन पर वाशिंग लाइन के समीप लगभग 2000 गज जमीन पर 110 करोड़ रूपये ख़र्च करके हाइड्रोजन Plant लगाने के लिए पायलट Project शुरू किया जा रहा है. जींद के BJP विधायक डॉ. कृष्ण मिड्डा ने इन साइटों का निरीक्षण किया. साथ ही उन्होंने बताया कि जब यह Plant उत्पादन देने लगेगा तो इससे दो ट्रेनें चलाई जा सकेंगी. 

जींद जंक्शन के समीप बनाया जाएगा प्लांट  

Railway अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि यह एक पायलट प्रोजेक्ट है और अभी तक इस तरह के Project पर केवल जर्मनी में ही काम किया जा रहा है. इसके बाद उन्होंने कहा कि हरियाणा में यह प्रोजेक्ट Jind जंक्शन के समीप वॉशिंग लाइन के नजदीक बनाया जाएगा, तथा मुख्य प्लेटफार्म से थोड़ी दूरी पर बनाया जाएगा ताकि यहां से इंजन में हाइड्रोजन Gas आसानी से भरी जा सकेगी. 

विधायक ने जल्द से जल्द कार्य शुरू करने के दिए निर्देश  

जींद जिले के विधायक ने इस Project को लेकर कहा कि इस प्लांट के निर्माण से जींद जिले का तेजी से विकास होगा वहीं Plant का निर्माण कार्य पूरा होते ही 8- 8 डिब्बों वाली 2 ट्रेनें चलाई जाएंगी इन दोनों रेलगाड़ियों में दो-दो इंजन लगाए जाएंगे. वहीं विधायक ने आदेश दिए कि बिना किसी देरी के जल्द से जल्द इस पर कार्य शुरू कर दिया जाए. 

शुरुआत में चलाई जाएंगी 8 डिब्बों वाली 2 ट्रेनें  

विधायक डॉ. कृष्ण मिड्डा ने दावा करते हुए बताया कि हरियाणा में लगने वाला यह Plant विश्व का पहला Plant होगा जहां से हाइड्रोजन गैस द्वारा संचालित Train को चलाया जाएगा. वहीं उन्होंने बताया कि इससे पहले जर्मनी में हाइड्रोजन गैस से ट्रेन चलाई जा रही थी, लेकिन इन ट्रेनों में केवल 2 ही डिब्बे होते थे, जबकि जींद जिले में चलने वाली ट्रेनों में 8 डिब्बे होंगे. 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like