Jobs Haryana

Guruwar Puja: गुरुवार को दिन में कभी भी कर लें इन मंत्रों का जाप, विष्णु कृपा से मिलेगी अपार संपत्ति

Thursday Lord Vishnu Mantra: गुरुवार का दिन भगवान विष्णु को समर्पित है. इस दिन विधि-विधान से विष्णु भगवान की पूजा करने और मंत्र जाप से व्यक्ति को जीवन में सभी कार्यों में सफलता मिलती है. सुख-संपत्ति की प्राप्ति होती है और भगवान विष्णु की कृपा से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. 

 | 
गुरुवार को दिन में कभी भी कर लें इन मंत्रों का जाप, विष्णु कृपा से मिलेगी अपार संपत्ति

Guruwar Mantra: हिंदू धर्म में हर दिन किसी न किसी देवी-देवता को समर्पित है. मान्यता है कि गुरुवार के दिन भगवान विष्णु और बृहस्पति देव की पूजा करने से जीवन में  सुख-समृद्धि, संपत्ति समेत सभी प्रकार के सुखों की प्राप्ति होती है. मान्यता है कि भगवान विष्णु को नियमपूर्वक पूजा करने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं. इस दिन भगवान विष्णु की पूजा करते समय पीले फूल, धूप,दीप, तुलसी के पत्ते अर्पित किए जाते हैं. इस दिन पूजा के बाद भगवान विष्णु के मंत्रों का जाप करने से हर कार्य में सफलता मिलती है. 

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दांपत्य जीवन में आ रही समस्याओं को दूर करने, वैवाहिक जीवन को सुखमय बनाने के लिए गुरुवार के दिन व्रत और पूजा करने की सलाह दी जाती है. कहते हैं कि  गुरुवार के दिन पूजा करने से शुभ विवाह और अन्य मांगलिक कार्यों के योग बनते हैं. कहा जाता है कि गुरु की पूजा करने से कुंडली में बृहस्पति मजबूत होता है. इससे जीवन में सफलता, यश, कीर्ति में वृद्धि होती है. आइए जानें गुरु के बीज मंत्र और अन्य मंत्रों के बारे में. 

Guruwar Puja: गुरुवार को दिन में कभी भी कर लें इन मंत्रों का जाप, विष्णु कृपा से मिलेगी अपार संपत्ति

गुरुवार को करें मंत्रों का जाप

1. गुरु ग्रह तांत्रिक मंत्र
ओम ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम:

2. भगवान विष्णु का गायत्री मंत्र
ॐ नारायणाय विद्महे। वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।

3. सभी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए विष्णु मंत्र
ओम नमो भगवते वासुदेवाय

इस मंत्र जाप से सभी प्रकार के मनोकामनाओं की पूर्ति होती है. इसे श्री हरि का महामंत्र भी कहा जाता है. इसके जाप से मोक्ष की भी प्राप्ति होती है.

4. सुख, समृद्धि और संपत्ति के लिए विष्णु मंत्र
ओम भूरिदा भूरि देहिनो, मा दभ्रं भूर्या भर। भूरि घेदिन्द्र दित्ससि।
ओम भूरिदा त्यसि श्रुत: पुरूत्रा शूर वृत्रहन्। आ नो भजस्व राधसि।

5. गुरु का वैदिक मंत्र
ओम बृहस्पते अति यदर्यो अर्हाद् द्युमद्विभाति क्रतुमज्जनेषु।
यद्दीदयच्छवस ऋतप्रजात तदस्मासु द्रविणं धेहि चित्रम्।।

6. गुरु ग्रह बीज मंत्र
ओम बृं बृहस्पतये नम:

मंत्र जाप करते समय इस बात का ध्यान रखें कि मंत्रों का उच्चारण सही होना चाहिए. तभी मंत्रों के जाप का फल मिलता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अगर गुरुवार को आपके पास समय का अभाव है, तो भगवान विष्णु का पूजन भी किया जा सकता है. इतना ही नहीं, इस दौरान विष्णु चालीसा का पाठ करें और आरती करें. ऐसा करने से आप पर हमेशा कृपा बनी रहेगी. 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like