Jobs Haryana

Dhan Price : धान की फसल कर रही है किसानों की बल्ले-बल्ले, 4 हजार रुपए क्विंटल तक पहुंचा भाव

 | 
धान की फसल कर रही है किसानों की बल्ले-बल्ले, 4 हजार रुपए क्विंटल तक पहुंचा भाव

टोहाना | बासमती धान की अच्छी पैदावार और उपर से उम्मीद से ज्यादा भाव मिलने से किसानों के चेहरों पर खुशी छाई हुई है. शनिवार से फतेहाबाद व टोहाना अनाज मंडी में 1509 किस्म की आवक शुरू हो गई है. इस बार सीजन की शुरुआत से ही किसानों को अच्छा भाव मिल रहा है जिसकी खुशी किसानों के साथ- साथ व्यापारियों के चेहरों पर भी देखी जा रही है. वही इस बार पैदावार भी प्रति एकड़ औसत 70 मन की निकल रही है. 

शनिवार को फतेहाबाद मंडी में 1509 धान 3600 रुपए तो वहीं टोहाना मंडी में 3700 रुपए प्रति क्विंटल तक बिका,जो कि इस सीजन में अब तक का सबसे ज्यादा भाव है. बता दें कि धान के सीजन में सबसे पहले 1509, उसके बाद 1121 व परमल धान की आवक होती है. सरकार की ओर से केवल परमल धान ही खरीदा जाता है जिसका न्यूनतम समर्थन मूल्य 2060 रुपए प्रति क्विंटल तय किया गया है. 

सीजन की शुरुआत से ही ज्यादा भाव 

बता दें कि पिछले सीजन भी 1509 धान 4000 रुपए प्रति क्विंटल तक बिका था लेकिन उसका फायदा किसानों को कम और व्यापारियों को ज्यादा हुआ था. पिछली बार सीजन की शुरुआत में 2800 से 3100 रुपए प्रति क्विंटल तक के भाव में किसान अपनी धान की फसल बेच गए और मार्च 2022 में यह भाव बढ़कर 4 हजार रुपए प्रति क्विंटल तक हो गया था,जिसका सीधा फायदा स्टॉक करने वाले व्यापारियों ने उठाया था. लेकिन इस बार सीजन की शुरुआत से ही किसानों को अच्छा भाव मिल रहा है और इस भाव में और उछाल आने की संभावना जताई जा रही है. 

22 देशों में महकती है फतेहाबाद के चावलों की महक 

हरियाणा के प्रमुख एक्सपोर्टरों में शामिल जिंदल इंडस्ट्रीज फतेहाबाद की अनाज मंडी से 1509 व 1121 धान की खरीद करती है. वह इस धान का चावल विदेशों में निर्यात करती है. जिंदल इंडस्ट्रीज का माल यहां से 22 देशों खासकर खाड़ी व मिडल ईस्ट के देशों में एक्सपोर्ट होता है. अपने चावल की क्वालिटी को लेकर यह फर्म पूरे अरब के देशों में अलग पहचान बना चुकी है. 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like