Jobs Haryana

Delhi School Classroom Scam: विजिलेंस रिपोर्ट में 1300 करोड़ के घोटाले का दावा, की गई जांच की सिफारिश

Vigilance Report On School Scam: विजिलेंस रिपोर्ट में 1300 करोड़ रुपये के घोटाले के दावे के बाद बीजेपी (BJP), दिल्ली सरकार पर हमलावार है. बीजेपी ने आरोप लगाया है कि कक्षाओं की जगह टॉयलेट बनाए गए हैं. 
 | 
विजिलेंस रिपोर्ट में 1300 करोड़ के घोटाले का दावा, की गई जांच की सिफारिश

Delhi Classroom Scam: दिल्ली सरकार के सतर्कता निदेशालय (DOV) की रिपोर्ट में दिल्ली के स्कूलों में कक्षाओं के निर्माण में 1300 करोड़ रुपये का घोटाला होने का दावा किया गया है. डीओवी की रिपोर्ट के मुताबिक, 193 स्कूलों में 2,405 कक्षाओं के निर्माण में कथित रूप से 'अनियमितता और भ्रष्टाचार' का मामला सामने आया है. इसकी रिपोर्ट मुख्य सचिव को सौंप दी गई है और जांच का सुझाव दिया गया है. बता दें कि शिक्षा विभाग और पीडब्ल्यूडी की जांच के बाद डीओवी रिपोर्ट तैयार की गई है. शुरुआती जांच में यह एक बड़े घोटाले की ओर संकेत देती है. मामले में एक स्पेशल एजेंसी द्वारा जांच की सिफारिश की गई है.

कक्षाओं के निर्माण में घोटाले का आरोप

जान लें कि डीओवी ने 22 अगस्त, 2022 को एक शिकायत के बाद मामले में रिपोर्ट पेश की है. इसमें केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC) की 17 फरवरी, 2020 की रिपोर्ट के संबंध में दिल्ली के तमाम स्कूलों में अतिरिक्त कक्षाओं के निर्माण में गंभीर अनियमितताओं को उजागर किया गया है. सीवीसी की तरफ से इस मामले पर टिप्पणी के लिए डीओवी को रिपोर्ट भेजी गई थी.

बब्बर एंड बब्बर एसोसिएट्स से है कनेक्शन

विजिलेंस डिपार्टमेंट ने शिक्षा विभाग और पीडब्ल्यूडी के संबंधित अफसरों की जिम्मेदारियों को तय करने की भी सिफारिश की है, जो करीब 1,300 करोड़ रुपये के घोटाले में शामिल थे. मैसर्स बब्बर एंड बब्बर एसोसिएट्स ने गैरकानूनी तरीके से न केवल 21 जून, 2016 को तत्कालीन पीडब्ल्यूडी मंत्री के केबिन में आयोजित एक अहम बैठक में भाग लिया, बल्कि पोस्ट-टेंडर के लिए मंत्री को भी प्रभावित किया.

बीजेपी ने आप पर साधा निशाना

सतर्कता निदेशालय की तरफ से दिल्ली के स्कूलों में कक्षाओं के निर्माण में कथित अनियमितताओं की जांच कराने का सुझाव देने के बाद बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने आप और दिल्ली सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि दिल्ली सरकार ने स्कूल में टॉयलेट बनाए और उनकी गिनती कक्षाओं में की. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बच्चों की शिक्षा की कोई चिंता नहीं है, उन्हें उनको मिलने वाले काले धन की है.

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like