Jobs Haryana

Mahindra Scorpio-N बुक करने से पहले जान लो 5 बड़ी खामियां, नहीं तो होगा नुकसान

Mahindra Scorpio-N: कोई भी गाड़ी परफेक्ट नहीं होती। ऐसे में ढेरों खूबियां होने के साथ महिंद्रा की Scorpio-N में भी कुछ कमियां हैं. अगर आप भी महिंद्रा की नई स्कॉर्पियो-एन बुक करने की सोच रहे हैं तो पहले इस SUV की 5 खामियों के बारे में जान लेते हैं. 

 | 
Mahindra Scorpio-N बुक करने से पहले जान लो 5 बड़ी खामियां, नहीं तो होगा नुकसान

5 Points to know before booking Mahindra Scorpio-N: महिंद्रा की स्कॉर्पियो-एन (Mahindra Scorpio-N) को ग्राहकों की शानदार प्रतिक्रिया मिल रही है. 30 जुलाई को इसकी बुकिंग शुरू हुई और तभी से ग्राहक इसे बुक करने के लिए जुट गए. इसे एक घंटे में ही 1 लाख बुकिंग मिल गई. कोई भी गाड़ी परफेक्ट नहीं होती. ऐसे में ढेरों खूबियां होने के साथ महिंद्रा की Scorpio-N में भी कुछ कमियां हैं. अगर आप भी महिंद्रा की नई स्कॉर्पियो-एन बुक करने की सोच रहे हैं तो पहले इस SUV की 5 खामियों के बारे में जान लेते हैं. 

माइलेज
महिंद्रा की स्कॉपियो एन में 2.2 लीटर का mHawk डीजल इंजन और 2.0 लीटर mStallion पेट्रोल इंजन मिलता है. दोनों ही इंजन को मैनुअल और 6 स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन के साथ जोड़ा गया है. ये दोनों ही इंजन दमदार पावर और टॉर्क देते हैं. ऐसे में आपको माइलेज के साथ समझौता करना होगा. अगर आप पेट्रोल इंजन वाला वेरिएंटऑटोमैटिक ट्रांसमिशन के साथ लेते हैं तो आप 11 से 12 kmpl तक के माइलेज की उम्मीद कर सकते हैं. जबकि डीजल इंजन भी इससे थोड़ा बहुत ही ज्यादा माइलेज दे पाएगा.  

वेटिंग पीरियड: 
महिंद्रा एक्सयूवी 700 खरीदने वाले ग्राहकों को भी लंबा वेटिंग पीरियड झेलना पड़ा था. ऐसा ही कुछ स्कॉर्पियो-एन के साथ भी रहने वाला है. एसयूवी को पहले 1 घंटे में ही 1 लाख बुकिंग मिल गई थी. कंपनी ने कहा था कि शुरुआती 25 हजार बुकिंग्स की डिलिवरी दिसंबर तक होनी है. जबकि इसके बाद आई बुकिंग्स के बारे में फिलहाल कोई दावा नहीं किया गया है. 

थर्ड रॉ का स्पेस: 
3 रॉ वाली एसयूवी के साथ इस तरह की समस्या रहती ही है. कंपनियां भले ही कुछ भी दावा करें, लेकिन तीसरी पंक्ति में बैठने वाले यात्रियों को लेग रूम के साथ समझौता करना ही पड़ता है. ऐसा ही कुछ महिंद्रा स्कॉर्पियो-एन के साथ भी है. इसकी सबसे पीछे वाली सीट्स आमतौर पर बच्चों के लिए ठीक रहती हैं. व्यस्क यहां बैठकर लंबी दूरी की यात्रा नहीं कर पाएंगे.  

बूट स्पेस:  
7 सीटर गाड़ियों के साथ बूट स्पेस की भी समस्या रहती है. स्कॉर्पियो एन में भी आपको बेहद लिमिटेड बूट स्पेस दिया गया है. यह बड़ी कार है, जो खास तौर पर लॉन्ग ट्रिप्स के लिए हैं. लेकिन छह और सात लोगों के बैठने के बाद इसमें सामान के लिए ज्यादा जगह नहीं बचेगी. हालांकि आप रूफ का इस्तेमाल कर सकते हैं. 

सर्विस
महिंद्रा का सर्विस नेटवर्क फिलहाल तो ठीक है, लेकिन भविष्य में मुश्किलें बढ़ने की संभावना है. कंपनी की बिक्री लगातार बढ़ती जा रही है. थार और एक्सयूवी 700 की बिक्री तो अपने चरम पर थी ही, अब नई स्कॉर्पियो से लोड और बढ़ जाएगा. ऐसे में महिंद्रा को अपने सर्विस नेटवर्क में विस्तार की जरूरत है, नहीं तो ग्राहकों को आने वाले समय से जरूर समस्या हो सकती है. 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like