Jobs Haryana

Success Story: तीन भाई-बहनों नें पास की हिंदी विषय की NET परीक्षा, किसान परिवार के इन बच्चों ने बढाया मान

 | 
ugc net

Success Story: मेहनत से हर मुश्किल पार हो जाती है। ऐसा ही कर दिखाया है किसान परिवार से संबंध रखने वाले तीन भाई-बहनों ने।आपको बता दें की ये परिवार हरियाणा के सिरसा जिले के नाथूसरी चौपटा खंड के गांव राजपुरा कैंरावाली का रहने वाला है।इस परिवार के तीन भाई-बहनों ने यूजीसी नेट की परीक्षा हिंदी विषय में पास की है।

परीक्षा पास करना बेहद कठिन

यूजीसी नेट की परीक्षा पास करना काफी मुश्किल माना जाता है। इसे पास करने के लिए दिन-रात मेहनत करनी पड़ती है। लेकिन अगर बात हिंदी को बढ़ावा देने की हो तो ग्रामीण क्षेत्रों में किसान परिवार भी हिंदी भाषा को बढ़ावा देने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे।

हम आपको ऐसे ही ग्रामीण किसान परिवार के बारे में बताने जा रहे हैं जहां तीन भाई-बहनों ने हिंदी विषय में नेट की परीक्षा पास कर रखी है। तीन भाई-बहनों में एक भाई और दो बहनें हैं।  


बच्चों की शिक्षा गुणवत्ता से कभी नहीं किया समझौता


हरियाणा के सिरसा जिले के नाथूसरी चौपटा खंड के गांव राजपुरा कैंरावाली में किसान विनोद कुमार की दो बेटियों माया रानी और लक्ष्मी देवी तथा एक बेटे प्रवीण कुमार ने ये परीक्षा पास की है। विनोद कुमार खेती बाड़ी का कार्य करते लेकिन विनोद ने अपने बच्चों की शिक्षा की गुणवत्ता से कभी समझौता नहीं किया। बेटे और बेटियों को बराबरी का दर्जा देकर तीनों को उच्च शिक्षा दिलवाई है।

बेटीयों के रिसर्च पेपर प्रकाशित

माया रानी के 5 रिसर्च पेपर प्रकाशित हो चुके हैं और निजी महाविद्यालय में प्राध्यापिका के पद पर कार्यरत हैं। इसके अलावा लक्ष्मी देवी के 5 रिसर्च पेपर प्रकाशित होने के साथ-साथ एक पुस्तक भी प्रकाशित हो चुकी है।

माया रानी ने 2018 में की परीक्षा पास

माया रानी ने हिंदी विषय में जुलाई 2018 में नेट की परीक्षा उत्तीर्ण की है। इसके साथ ही एचटेट, सीटेट और रीट की परीक्षा भी उत्तीर्ण कर रखी है। और पांच रिसर्च पेपर प्रकाशित हो चुके हैं। इसके अलावा  हिंदी विषय में पीएचडी जारी है। वर्तमान में चौधरी कुरड़ा राम मेमोरियल महिला महाविद्यालय जमाल में सहायक प्रोफेसर के पद पर कार्यरत है। एमए हिंदी के साथ साथ जेबीटी का कोर्स भी किया हुआ है।

लक्ष्मी देवी ने जून में की 2020 नेट की परीक्षा उत्तीर्ण

लक्ष्मी देवी ने जून 2020 में हिंदी विषय में नेट की परीक्षा उत्तीर्ण की। लक्ष्मी ने भी जेबीटी और एम ए हिंदी के साथ साथ एटेटच, सीटेट को रीट की परीक्षा उत्तीर्ण कर रखी है लक्ष्मी देवी के भी 5 रिसर्च पेपर प्रकाशित हो चुके हैं। और एक पुस्तक 'हिंदी साहित्य में चित्रित किसान जीवन' पर प्रकाशित हो चुकी है। वर्तमान में चौधरी कुरड़ाराम राम मेमोरियल महिला महाविद्यालय जमाल में प्राध्यापिका के पद पर कार्यरत है।

प्रवीण कुमार ने जून 2022 में की परीक्षा पास

प्रवीण कुमार ने जून 2022 में हिंदी विषय में नेट की परीक्षा पास की है। इसके साथ ही राजकीय नेशनल महाविद्यालय सिरसा में अध्ययनरत है।

माता-पिता को है गर्व

मेहनत हमेशा रंग लाती है। इनके माता-पिता विनोद कुमार और कमला देवी का कहना है कि वह अपने बच्चों की उपलब्धि पर खाफी खुश हैं। और उन्हें गर्व है कि उनके बच्चों ने राजभाषा हिंदी को बढ़ावा देने के लिए मेहनत और लगन से पढ़ाई की है। तो वहीं इन तीनों ने न केवल अपने माता-पिता बल्कि पूरे इलाके का गौरव बढाया है।  

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like