Jobs Haryana

Haryana Teachers Recruitment : हरियाणा में पक्के शिक्षकों की भर्ती से पहले सरकारी स्कूलों को मिले कांट्रैक्‍ट टीचर, मेरिट आधार पर नियुक्तियां

Haryana Teachers Recruitment हरियाणा में सरकारी स्‍कूलों में नियमित शिक्षकों की भर्ती से पहले राज्‍य सरकार ने कांट्रैक्‍ट टीचरों की नियुक्ति की है। इसके साथ ही मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल ने चयनित पीजीटी और टीजीटी शिक्षकों को नियुक्ति पत्र जारी किया है। 

 | 
हरियाणा में पक्के शिक्षकों की भर्ती से पहले सरकारी स्कूलों को मिले कांट्रैक्‍ट टीचर, मेरिट आधार पर नियुक्तियां

Haryana Teachers Recruitment: हरियाणा लोक सेवा आयोग और हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा शुरू की गई पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (पीजीटी) और ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (टीजीटी) की भर्ती प्रकिया के बीच सरकारी स्कूलों को अनुबंध आधार पर 2075 शिक्षक मिले हैं। कौशल रोजगार निगम ने मेरिट के आधार पर यह नियुक्तियां की हैं। 

हरियाणा के सरकारी स्कूलों 2075 कांट्रैक्‍ट शिक्षकों की नियुक्ति की गई 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुधवार को कंप्यूटर पर क्लिक कर सभी चयनित पीजीटी और टीजीटी को नियुक्ति पत्र जारी कर दिए। अध्यापकों के इन पदों के लिए पंजीकरण की अंतिम तिथि छह नवंबर निर्धारित की गई थी। इस तरह सिर्फ 17 दिनों में 2075 चयनित युवाओं को पीजीटी व टीजीटी अध्यापकों के लिए नियुक्ति-पत्र जारी कर दिए गए। 

कौशल रोजगार निगम ने मेरिट के आधार पर की हैं यह नियुक्तियां 

ये नियुक्तियां उन स्कूलों में की गई हैं, जहां युक्तीकरण के बाद अध्यापकों की कमी पाई गई थी। इस पर त्वरित संज्ञान लेते हुए प्रदेश सरकार ने फौरी तौर पर इन अध्यापकों की नियुक्ति की है ताकि बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बताया कि हरियाणा लोक सेवा आयोग द्वारा शिक्षकों की नियमित भर्तियों के लिए भी विज्ञापन जारी कर दिया गया है। आयोग ने पीजीटी के 3863 पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। 

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग व हरियाणा लोक सेवा आयोग द्वारा की जाने वाली भर्ती प्रक्रिया में समय लग जाता है। इसलिए अब जिस विभाग में कर्मचारियों की आवश्यकता होती है, वहां पक्की भर्ती तक निगम के माध्यम से भर्ती की जा रही है। 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि पहले आउटसोर्सिंग पालिसी पार्ट-एक के तहत सेवा प्रदाताओं द्वारा कर्मचारियों के शोषण की शिकायतें मिल रहीं थी। इसलिए उन्होंने कौशल रोजगार निगम का गठन करने का निर्णय लिया। अब सभी अनुबंधित कर्मचारियों की नियुक्ति इस निगम के माध्यम से हो रही है। 

हरियाणा में विभिन्न विभागों, बोर्डों व निगमों में पहले से लगे 90 हजार से अधिक कर्मचारियों को निगम के माध्यम से समायोजित किया जा चुका है। पहले सरकार हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग व हरियाणा लोक सेवा आयोग के माध्यम से की जा रही भर्तियों में पारदर्शिता लाई और पर्ची-खर्ची को खत्म कर मेरिट के आधार पर नौकरियां दीं। अब हरियाणा कौशल रोजगार निगम के जरिये भी मेरिट आधार पर अनुबंध की नियुक्तियां की जा रही हैं। 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like