Jobs Haryana

हरियाणा के इस जिले में को मिली बड़ी सौगात, इस प्रॉजेक्ट के शुरू होने से खत्म होगी बेरोजगारी की समस्या

 | 
हरियाणा के इस जिले में को मिली बड़ी सौगात, इस प्रॉजेक्ट के शुरू होने से खत्म होगी बेरोजगारी की समस्या

दीन बंधु छोटू राम थर्मल पावर प्लांट में अब 800 मेगावाट की एक ओर इकाई स्थापित की जाएगी। सरकार की ओर से मंजूरी मिलने के बाद एचपीजीसीएल ने इस दिशा में तैयारी शुरू कर दी है। जिले के लिए यह बड़ी सौगात हैं। क्योंकि नई इकाई स्थापित होने के बाद न केवल अतिरिक्त बिजली उत्पादन होगा बल्कि युवाओं के लिए रोजगार के रास्ते भी खुलेंगे। बता दें कि यहां 600 मेगावाट की दो इकाइयां पहले से स्थापित हैं। विभागीय अधिकारी बिजली किल्लत से निपटने के लिए इसे बड़ा कदम करार दे रहे हैं। 

600 एकड़ में बना है प्लांट 

दीन बंधु छाेटू राम थर्मल पावर प्लांट कुल 600 एकड़ में बना हुआ है। यहां 300-300 मेगावाट की दो इकाइयों से बिजली उत्पादन हो रहा है। प्लांट कोयला आधारित है और नया प्लांट भी कोयला आधारित ही होगा। अधिकारियों के मुताबिक 800 मेगावाट की नई इकाई के लिए अतिरिक्त जमीन की जरूरत नहीं पड़ेगा। क्योंकि प्लांट के पास पहले ही काफी जमीन है। बता दें कि प्रदेश में कोयला आधारित दो और प्लांट हैं। एक पानीपत व दूसरा हिसार में है। पानीपत में दो इकाइयां 250-250 व तीसरी इकाई 210 मेगावाट की है। हिसार में 600-600 मेगावाट की दो इकाइयां हैं। 

प्लांट के बारे में यह भी जानिए 

दीनबंधु छोटू राम थर्मल पावर प्लांट एचपीजीसीएल कोयला आधारित बिजली संयंत्रों में से एक है। रिलायंस एनर्जी लिमिटेड और शंघाई इलेक्ट्रिक द्वारा संयुक्त रूप से बनाया गया था। तत्कालीन प्रधान मंत्री पीवी नरसिम्हा राव ने मार्च-1993 में फरीदाबाद से रिमोट कंट्रोल के माध्यम से इस परियोजना की आधारशिला रखी थी। वर्ष 2005 में तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुडा ने इस परियोजना को मंजूरी दी। 2005-2008 में इसको विकसित किया गया। इससे पहले वर्ष-2004 में भी तत्कालीन मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला थर्मल पावर प्लांट का शिलान्यास किया था, लेकिन इस दौरान परियोजना कागजों में रही। 

800 मेगावाट की नई इकाई स्थापित करने की योजना को सीएम मनोहर लाल ने मंजूरी दे दी है। परियोजना अभी प्राथमिक स्तर पर है। सिरे चढ़ने में समय लगेगा, लेकिन विभागीय स्तर पर प्रक्रिया शुरू हो गई है। जिले के लिए यह बड़ी उपलब्धि है। 

सुरेंद्र सचदेवा, चीफ इंजीनियर, थर्मल पावर प्लांट 

Around The Web

Latest News

Featured

You May Like