10वीं के परीक्षा पैटर्न में हुआ बड़ा बदलाव, साइंस-हिंदी-इंग्लिश के जुड़े नए सेक्शन

Jobs Haryana

हाल ही में सीबीएसई द्वारा दसवीं कक्षा के सैम्पल पेपर्स जारी किए गए हैं। कोविड-19 महामारी की वजह से उत्पन्न अभूतपूर्व स्थितियों के कारण 4 मई से 10 जून तक होने वाली बोर्ड परीक्षाओं के पैटर्न में सीबीएसई ने कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। अब जब परीक्षा में तीन महीने से भी कम का वक्त बचा है ऐसे में छात्रों को इन बदलावों को ध्यान में रखकर अपनी तैयारी को और बेहतर कर लेना चाहिए। यहां सोशल साइंस (सामाजिक विज्ञान), साइंस (विज्ञान), मैथेमैटिक्स (गणित), इंग्लिश (अंग्रेजी) और हिंदी विषय में हुए इन बदलावों की विस्तृत जानकारी दी गई है, जो आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकती है।

यह भी पढें- 10वीं पास के लिए 2000 से ज्यादा पदों पर आवेदन करने के कुछ दिन शेेष, फटाफट करें यहां से आवेदन
मैथेमैटिक्स बेसिक/स्टैंडर्ड : इस बार मैथेमैटिक्स के दोनों लेवल – बेसिक और स्टैंडर्ड में एक नया सेक्शन जोड़ा गया है, जिसके अंतर्गत 4 केस स्टडी बेस्ड प्रश्न पूछे जाएंगे। पिछले साल (2019-2020) तक एक अंक वाले 20 सवालों में केवल दो प्रश्नों में ही इंटरनल चॉइस दी जाती थी। किंतु इस बार (2020-2021) एक अंक के 16 सवालों में 5 प्रश्नों में इंटरनल चॉइस दी जाएगी। इसके अलावा इस बार परीक्षा में 5 अंक के लॉन्ग आंसर टाइप सवाल पूछे जाएंगे।
सोशल साइंस : सीबीएसई ने इस बार पेपर में नया रीडिंग सेक्शन जोड़ दिया है। जिसके अंतर्गत 4 अंकों के 3 सवाल पूछे जाएंगे। पिछले साल तक हिस्ट्री और ज्योग्राफी विषय से 6 अंकों का मैप बेस्ड सवाल पूछा जाता था। किन्तु इस साल यह सवाल 5 अंक का पूछा जाएगा, यानी 2 अंक का हिस्ट्री से और 3 अंक का ज्योग्राफी से। इसके साथ ही सवालों की कुल संख्या 35 से घटाकर 32 कर दी गई है।

यह भी पढें- स्टोर कीपर, ड्राफ्ट्समैन समेत कई पदों पर निकली भर्ती, 12वीं और ITI पास करें जल्द अप्लाई
साइंस :

पिछले सत्र (2019-20) तक एक अंक के 14 सवाल पूछे जाते थे, वहीं अब इस सत्र (2020-21) से एक अंक के 20 सवाल पूछे जाएंगे। सीबीएसई ने इस बार शॉर्ट आंसर सेक्शन भी जोड़ा है, जिसके अंतर्गत दो अंक के 6 सवाल आएंगे। इसके अलावा पांच अंकों वालें सवालों की संख्या 6 से घटाकर 3 कर दी गई है।

हिंदी :

पिछले वर्ष (2019-20) तक हिंदी के पेपर में चार खंड – क, ख, ग और घ होते थे। जिसमें प्रत्येक खंड में अंकों के अनुसार 15-150 शब्दों के बीच जवाब लिखना होता था। लेकिन इस वर्ष (2020-21) पेपर में केवल दो खंड – अ और ब रखे गए हैं। खंड अ में कुल 9 वस्तुपरक यानी ऑब्जेक्टिव और खंड ब में कुल 8 वर्णनात्मक यानी विस्तार से लिखने वाले सवाल पूछे जाएंगे।

यह भी पढें- नौकरी पाने का सुनहरा मौका जल्द होने जा रही है 50000 पदों पर भर्ती, जानिए पूरी जानकारी
इंग्लिश :

इस बार पेपर को दो भागों में बांटा गया है। दोनों ही भागों में 40 अंक के सवाल पूछे जाएंगे। बता दें कि पहले भाग में लिटरेचर, रीडिंग और ग्रामर तो वहीं दूसरे भाग में राइटिंग और लिटरेचर को रखा गया है। अर्थात इस सत्र में लिटरेचर के दो सेक्शन होंगे। एक में एक्सट्रेक्ट पढ़कर सवालों के जवाब देना होगा वहीं दूसरे में टेक्स्ट बुक पर आधारित सवाल पूछे जाएंगे।

Find Jobs? Join Our Whatsapp Group